स्वस्थ एवं सुरक्षित जीवन के लिए नशा छोड़ना जरूरी: यूनाइट फाउण्डेशन


NP1181 14/11/2019 16:00:42
138 Views

LUCKNOW. बाल दिवस के पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय जेहटा विकास खण्ड काकोरी में यूनाइट फाउण्डेशन के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने 'स्वस्थ बचपन, सुरक्षित बचपन' विषय पर बोलते हुए बच्चों को सुरक्षित जीवन जीने के मार्ग पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि किसी प्रकार का नशा हमें समाज से तोड़ने का काम करता है। 

14-11-2019182924Itisnecessar4

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ग्राम प्रधान राहुल सिंह ने कहा कि आज के समाज में नशे की लत को सबसे खराब दृष्टि से देखा जाता है। इसलिए बच्चों को भी स्वस्थ रहने के लिए नशे से दूर रहने के साथ-साथ परिवार को नशा मुक्त बनाना है। प्रधान ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक सहित स्कूल के स्टाफ को विश्वास दिलाते हुए कहा कि अगले 6 माह में हम इस स्कूल को मॉडल स्कूल बना देंगे। स्कूल की सभी जरूरतें पूरी हो जाएंगी।

नशा समाज में एक वायरस की तरह: एसपी गौतम

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता एस.पी.गौतम ने कहा कि समाज में एक ऐसा वायरस फैल रहा है, जो लोगों की जिन्दगी को बर्बाद कर रहा है। नशा नामक यह वायरस टी.बी. की तरह इतना बढ़ चुका है कि इसको समाप्त करने के लिए समय लगता है। उन्होंने बच्चों को शपथ दिलाते हुए कहा कि आज से कोई बच्चा उनसे बात नहीं करेगा जो नशा करते हैं। 

14-11-2019182639Itisnecessar3

मंजिल पाने ​के लिए समाज की महत्वपूर्ण हस्तियों से प्रेरणा लें: भोलानाथ मिश्र

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता स्वदेशी जागरण मंच के संयोजक भोलानाथ मिश्र ने कहा कि समाज में आगे बढ़ने के लिए सपने देखने चाहिए। वह सपने साकार करने के लिए हमेशा उन लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिए, जिनको नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। जैसे हमारे पड़ोसी और दुश्मन मुल्क पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई नाम की लड़की, जिसने अपने देश में लड़कियों की पढ़ाई के लिए कदम आगे आयी। वहां के लोगों ने उसका इतना विरोध किया कि उसको जान से मार डाला, लेकिन कहावत है कि जिसको राखे साइयां, मार सके ना कोय। वाली कहावत उस पर लागू होती है, क्योंकि वह फिर भी बच गयी। जिसे बाद में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसी तरह शान्ति के लिए हमारे देश के कैलाश सत्यार्थी को भी इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा ​चुका है। उन्होंने कहा कि जीवन में कुछ बनने के लिए संघर्ष करना जरूरी है। उसके बिना हमें कोई मंजिल नहीं मिलती।

14-11-2019182554Itisnecessar2

बच्चों की समस्याओं की सूचना चाइल्ड लाइन को दें

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चाइल्ड लाइन के अनिल कुमार ने कहा कि बच्चों को अपने अधिकारों को जानना चाहिए और किसी भी परेशानी में चाइल्ड लाइन का नम्बर 1098 याद रखना चाहिए। बाल विवाह होने पर उन्हें सूचना दें। वह कानून के अनुसार कार्रवाई कराएंगे। अनिल ने कहा कि नशा समाज में कई प्रकार से लोगों का नुकसान पहुॅचाता है। नशे से सबसे पहले शारीरिक नुकसान होता है। उसके बाद आर्थिक और फिर सामाजिक नुकसान होता है और परिवार में कलह होने से विघटन की स्थितियां भी उत्पन्न हो जाती हैं।

इससे पहले स्कूल के प्रधानाध्याप​क अली किश्वर ने कहा कि उनके विद्यालय में 200 छात्र पंजीकृत हैं, उन्होने हर क्लास में दो सेक्शन बना रखे हैं। इस हिसाब से एक कमरे की आवश्यकता है। स्कूल की चहारदीवारी नीची है, जिससे वृक्षारोपण होने के बाद पौधे नहीं बचते। जानवर और बाहरी बच्चे तोड़ देते हैं और पानी की उचित व्यवस्था न होने और रखरखाव के अभाव में पेड़ बचाना मुश्किल है। इ​सलिए चहारदीवारी के अलावा ​रंगाई पुताई भी होनी चाहिए, जिससे विद्यालय का स्वरूप बदल सके। उन्होंने यूनाइट फाउण्डेशन को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस कार्यक्रम ने उनके स्कूल का महत्व बढ़ा दिया है। यूनाइट फाउण्डेशन की सदस्य सुकीर्ति मिश्रा ने संस्था के क्रिया कलापों पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम की शुरुआत प्रार्थना के साथ हुई। 

14-11-2019182514Itisnecessar1

प्रधान ने बच्चों को पुरस्कार वितरित किए

कार्यक्रम के अंत में प्रधान ने निबंध प्रतियोगिता में विजयी बच्चों को पुरस्कार वितरित किए। जिनमें सनी कुमार कक्षा 8, अमृता शान्ति गौड़ कक्षा 7, जसोम​ती कक्षा 6 प्रथम, शिवानी कक्षा 8, शिवा यादव कक्षा 7, पायल गौतम कक्षा 6 को द्वितीय, मुस्कान कक्षा 8, कल्याणी कक्षा 7, शिल्पी राजपूत कक्षा 6 को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया गया। इस अवसर पर यूनाइट फाउण्डेशन की ओर से ग्राम प्रधान राहुल सिंह, एसपी गौतम, प्रधानाध्यापक, चा​इल्ड लाइन के अनिल कुमार को ज्ञान वर्धक पुस्तकें भेंट की गयीं।

Web Title: It is necessary to give up addiction for a healthy and safe life ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया