"विश्व सड़क दुर्घटना मृतक स्मृति दिवस” पर यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया


NP1550 17/11/2019 17:52:40
256 Views

New Delhi. "कंज्यूमर गिल्ड लखनऊ" एवं "कंज्यूमर वॉयस", दिल्ली द्वारा 17 नवंबर को “विश्व सड़क दुर्घटना मृतक स्मृति दिवस” पर लखनऊ आगरा एक्सप्रेस-वे के पास सड़क दुर्घटना का शिकार हुए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मौजूद स्वैच्छिक संगठनों के प्रतिनिधियों की सड़क सुरक्षा संबंधी कार्यों की चर्चा भी की गई। 

17-11-2019180315MotorVehicle1

कंज्यूमर गिल्ड अध्यक्ष एडवोकेट अभिषेक श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए कहा कि नए "मोटर वाहन अधिनियम 2019" के प्रावधानों में सड़क सुरक्षा पर भी काफी जोर दिया गया है। उन्होंने कहा, “सड़क दुर्घटना से होने वाली मौतों को कम करने का सबसे प्रभावी तरीका सुरक्षा कानूनों को मजबूत करना है। बहुत समय से लंबित "मोटर वाहन अधिनियम 2019" को हरी झंडी देने पर हम सरकार की सराहना करते हैं और बधाई देते हैं।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार, भारत में हर साल आधा मिलियन दुर्घटनाएं होती हैं, जिसमें से 150,000 लोग अपनी जान गंवाते हैं। नए नियम आने के बाद लोग ट्रैफिक नियम तोड़ने की अपनी आदतों को बदलेंगे। हम उत्तर प्रदेश सरकार से "एमवीए 2019" के नए नियमों को शामिल करने का आग्रह करते हैं।” साथ ही कहा कि पिछले आंकड़ों पर गौर करें तो सड़क दुर्घटनाओं से सर्वाधिक मौतें उत्तर प्रदेश में हुई हैं। 

17-11-2019180326MotorVehicle2

वहीं सशक्त उड़ान फाउंडेशन के अध्यक्ष अंबर श्रीवास्तव ने भी सड़क दुर्घटना में मृतकों के प्रति संवेदना जाहिर करते हुए लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक रहने तथा उसका पालन करने की सलाह दी तथा हमेशा हेलमेट और सीट बेल्ट पहनने को कहा। इसके अलावा, मौके पर मौजूद वाहन चालकों तथा ट्रक ड्राइवरों को नए मोटर वाहन अधिनियम के बारे में जानकारी भी दी गई और उनसे यातायात नियमों का पालन सख्ती से करने को कहा गया जिससे कि सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सके। "

Web Title: Rules of Motor Vehicle Act 2019 recalled duing road accident smriti day ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया