महाराष्ट्र में अभी भी सियासी ड्रामा बाकी, BJP को समर्थन से शरद पवार ने किया इंकार


NP1509 23/11/2019 09:13 AM
1045 Views

Mumbai. महाराष्ट्र में एक बड़ा सियासी उलटफेर देखने को मिला है। एनसीपी ने सरकर बनाने के लिये भाजपा का समर्थन कर दिया है। दरअसल, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर सीएम पद की शपथ ली है। वहीं, एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजीत पवार ने राज्य के डिप्टी सीएम पद के रूप में शपथ ली है। दोनों नेताओं को आज सुबह करीब आठ बजे शपथ दिलाई गई। 

Sharad Pawar is not aware of support for BJP

हालांकि शरद पवार ने इस मामले में जानकारी से इंकार किया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि इस फैसले को एनसीपी का समर्थन नहीं है। मेरी जानकारी के बगैर ये शपथग्रह हुआ है। यह अजीत पवार निजी फैसला है। वह इसका समर्थन नहीं करते हैं। 

पवार के इस बयान के बाद साफ है कि अजीत पवार बागी बने हैं। एनसीपी का एक धड़ा भाजपा के साथ गया है। अब भाजपा को फ्लोर टेस्ट पर बहुमत साबित करना होगा। कहा जा रहा है कि अजीत पवार के पास संख्या बल हैं। 

फडणवीस के बयान ने पैदा किया सस्पेंस

सीएम पद की शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने एनसीपी के समर्थन के लिए अजीत पवार को धन्यवाद कहा। लेकिन उन्होंने शरद पवार का कहीं भी नाम नहीं लिया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने स्पष्ट जनादेश दिया था। हमारे साथ लड़ी शिवसेना ने उस जनादेश को नकार दिया और दूसरी जगह गठबंधन बनाने की कोशिश की। महाराष्ट्र को स्थिर शासन देने की जरूरत थी। महाराष्ट्र को स्थायी सरकार देने का फैसला करने के लिए मैं अजीत पवार को धन्यवाद देता हूं। 

बता दें कि अजीत पवार एनसीपी के संसदीय बोर्ड के नेता हैं और शरद पवार के उत्तरधिकारी भी माने जाते हैं। दावा यह भी किया जा रहा है कि NCP का कोई भी फैसला शरद पवार की सहमति के बिना नहीं लिया जाता है। शरद पवार देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र सरकार के गठन के लिए चर्चा का हिस्सा थे, उन्होंने अजीत पवार को अपनी सहमति दी थी। 

यह भी पढ़ें:-...महाराष्ट्र में बड़ा सियासी उलटफेर, एनसीपी ने शिवसेना और कांग्रेस को दिया धोखा

Web Title: Sharad Pawar is not aware of support for BJP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया