संविधान इस देश की आत्मा है जिसका हमें पालन करना है- गिरीश पाण्डे


NP1181 30/11/2019 16:28:00
84 Views

LUCKNOW. संविधान इस देश की आत्मा है, इसे हमने बनाया है और अपने लिए ही लागू किया है। संविधान का निर्माण करने के लिए भी संविधान सभा का चुनाव किया गया, जिसमें 400 लोगों का चयन किया गया था। इसमें 17 समितियां और उप समितियां थीं। इसके अध्यक्ष डा0 राजेन्द्र प्रसाद और प्रारूप समिति के अध्यक्ष डा0 बी0आर0 अम्बेडकर बनाये गये थे। उन्होंंने इसे 26 जनवरी, 1949 को अंगीकृत किया और 26 जनवरी, 1950 को वह कानून के रूप में लागू हुआ। यह विचार सर्व सेवा ट्रस्‍ट के अध्‍यक्ष गिरीश नाराण पाण्‍डेय ने शनिवार को ज्यू​पिटर एकेडमी इंदिरा नगर में यूनाइट फाउण्‍डेशन द्वारा "स्वस्थ बचपन, सुरक्षित बचपन" के कार्यक्रम में व्यक्त किये।

30-11-2019174323Constitutioni1

गिरीश नाराण पाण्‍डेय ने बच्चों से कहा कि वह जो बनना चाहते हैं, उसकी हम 100 फीसदी गारन्टी लेते हैं लेकिन उनका मंत्र याद रखना जरूरी है। इसके बाद उन्होंने जापान के तोतोचान टीचर की एक किताब का जिक्र करते हुए कहा कि उसको पढ़ने के बाद हर कोई सफलता प्राप्त कर सकता है। वह समाज से रिजेक्टेड बच्चों को पढ़ाता है। उन्होंने कक्षा 6-8 तक के छात्र एवं छात्राओं से पूछा कि आप लोग क्या बनना चाहते हैं, इस पर शुभम ने कहा कि वह सीएम बनना चाहते हैं। इसके बाद आरती ने कहा कि वह आईपीएस, शालिनी शर्मा वकील और विवेक गौतम जज बनना चाहते हैं।  

30-11-2019174617Constitutioni3

इससे पूर्व बच्चों को सम्बोधित करते हुए सेवानिवृत्त खण्ड विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि बच्चों को हमेशा होमवर्क समय पर करना चाहिए। कभी भी कक्षा को मिस नहीं करना चाहिए। लक्ष्य फाउण्‍डेशन की नेहा ने कहा कि बच्चों को शर्म और डर निकालना चाहिए।

यूनाइट फाउण्‍डेशन के उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित ने बच्चों से पूछा कि धूप से क्या मिलता है। उन्होंने कहा कि धूप से विटामिन डी मिलता है और धूप से कीटाणु मर जाते हैं। बच्चों ने कहा कि धूप से ठंड में राहत मिलती है। इसके अलावा कई और टिप्स दिए।

30-11-2019174423Constitutioni2

देवकी नन्दन शान्त ने बच्चों को कविता "तुम हो हमारी आंखों के तारे, सूना है यह जीवन बिन तुम्हारे। आओ फिर से बात करें हम, आपस में संवाद करें हम" सुनाई। इस अवसर पर म्यूजिक एफेक्शन के चेयरमैन सुशील कुमार शुक्ला, विद्यालय प्रबंधक संदीप भटनागर, चौकी इंचार्ज भानु प्रताप सिंह सहित कई गणमान्य व्यक्ति, छात्र एवं अध्यापिकाएं उपस्थित थीं।

Web Title: Constitution is the soul of this country that we have to follow - Girish Pandey ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया