मेरे मानस में अंकित हैं कानपुर की अनेक छवियां: रामनाथ कोविंद


NP1357 01/12/2019 15:03:31
21 Views

कानपुर। कानपुर शहर में पले-बढ़े राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का नगर निगम में नागरिक अभिनंदन किया गया। महापौर प्रमिला पांडेय ने उन्हें शहर की चाबी (चांदी की) सौंपी। नगर निगम सदन में सामने से लेकर पिछली पंक्ति तक कई चिर-परिचित चेहरों को देक महामहिम की यादों का झरोखा खुल गया। अपने शहर को उन्होंने कैसे देखा, समझा, कैसे जिया है?  इस शहर की खासियत क्या है? उन्होंने अपने संबोधन में ये बातें सभी से साझा कीं।

01-12-2019150438Manyimagesof1

नगर निगम सदन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि “मेरे मानस में कानपुर की अनेक छवियां अंकित हैं। एक ऐसा कानपुर जहां गर्मी के मौसम में मोतीझील के फव्वारों से ठंडी हवा आती है। जहां पढ़ाई के दौरान मैं अक्सर आता था। ऐसा कानपुर जहां विश्व प्रसिद्ध लाल इमली मिल है। जिसका घंटा बजता था तो लोगों को समय का पता चलता था। इसके पीछे विशाल इमली के पेड़ थे। पता नहीं आज हैं या नहीं”। हमारी पीढ़ी के बाद के लोगों को शायद पता नहीं होगा कि इन पेड़ों से मीठी और लाल इमलियां गिरती थीं। कचहरी जाने वाले इन इमलियों के लिए इधर से गुजरते थे और उन्हें उठाकर ले जाते थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि ऐसा कानपुर जहां सरसैया और परमट घाट पर भोर से श्रद्धालुओं की भीड़ लग जाती थी। हर गली से लोग अपने इष्टदेव को याद करते चले आते थे। “ऐसा कानपुर जहां पत्थर और लकड़ी के कोयलों से जलती अंगीठियों से उठने वाला धुआं बताता था कि लोग अब जाग गए हैं। कानपुर की एक और छवि मेरे मानस पर दर्ज है।

उत्तर प्रदेश के मध्य में गंगा किनारे बसे इस शहर ने स्नान पर्वों पर उमड़ती अपार भीड़ देखी है। स्वाधीनता संग्राम में सर्वस्व बलिदान करने वालों के वीरान घर भी देखे हैं। उद्योगों की गगनचुंबी चिमनियों से उठता धुआं देखा है, तो बंद मिलों के मजदूरों के ठंडे चूल्हे भी देखे हैं। फिलहाल इस शहर से देश की सबसे तेज चलने वाली वंदे भारत ट्रेन गुजरती है तो पुराने जमाने की निशानी के इक्के तांगे भी। ऐसा प्रतीत होता है कि यह शहर प्राचीनता और नवीनता को एक साथ जीता है।

Web Title: Many images of Kanpur are written in my mind ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया