तीन साल से नहीं हो रही ठेकेदार से रिकवरी


NP1181 01/12/2019 16:16:01
52 Views

LUCKNOW.  काकोरी विकास खण्ड के एक गांव में आगरा एक्सप्रेस वे के​ किनारे की झील से ठेकेदार को 5 फिट गहरी मिट्टी निकालनी थी, लेकिन उसने करीब 15-20 फिट गहरी मिट्टी का खदान कर दिया। जिसकी शिकायत करने पर उस ठेकेदार पर 32 करोड़ 97 लाख की रिकवरी तय की गयी। वह ठेकेदार विभागों को इधर-उधर पत्राचार कर रहा है लेकिन प्रशासन ने आज तक उससे उस रकम की रिकवरी नहीं की। यह सवाल काकोरी के ब्लाक प्रमुख राम विलास ने जिला की विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में जिलाधिकारी के समक्ष उठाया। जिस पर जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कहा कि मामले की जानकारी कर वह कार्रवाई करवाएंगे।

01-12-2019171703Recoveryfrom

इसी प्रकार राशन वितरण प्रणाली में भ्रष्टाचार की बात करते हुए डीएम ने जिला पूर्ति अधिकारी से पूछा कि कितने प्रतिशत दुकानदारों को मशीने नहीं मिल पाई हैं। उसने बताया कि 6 फीसदी दुकानदारों का अभी मशीन से वितरण नही हो रहा है। इस पर ​डीएम ने यूनिटों के राशन का गुणा करके भ्रष्टाचार को उजागर करके कहा कि कल से रोजाना सुबह 7 से 10 बजे तक देहात में कैम्प लगाकर राशन ठीक करने या सत्यापन करने का काम करेंगे और शाम को शहरी क्षेत्र में शिविर लगाकर यही काम करेंगे।यह काम एक जनवरी तक पूरा करना है। \

आगामी 31 मार्च तक मनरेगा योजना का लक्ष्य पूरा करने का निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा​ कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। जनप्रतिनिधियों ने जानना चाहा कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना में क्या काम होने थे और ​उसकी क्या स्थिति है। इसके जवाब में सीडीओ मनीष बंसल ने कहा कि ​जिले के 60 गांवों का चयन भारत सरकार से किया गया था जिसमें सभी को 20-20 लाख रुपये दिये गये थे। जिससे खड़ंजा, नाली  का निर्माण कराना था। इस मद से अन्य कार्य नहीं हो सकते थे। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होने बताया कि जब से मनरेगा योजना शुरू हुई है तब से अब तक कुल 2000 तालाबों में काम हुआ है या हो रहा है। 

Web Title: Recovery from contractor not being done for three years ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया