कानपुर: टेनरी में जहरीली गैस से श्रमिक की मौत पर बवाल, गुस्साए लोगों ने की तोड़फोड़


NP1509 03/12/2019 16:50:53
37 Views

Kanpur. कानपुर के जाजमऊ स्थित एक टेनरी में टैंक की सफाई के दौरान जहरीली गैस के रिसाव से श्रमिक की मौत हो गई। श्रमिक की मौत के बाद साथी मजदूरों का गुस्सा फूट पड़ा। आक्रोशित भीड़ ने मुआवजे की मांग को लेकर टेनरी के अंदर जमकर उपद्रव किया। तोड़फोड़ के बाद श्रमिकों ने पथराव भी किया। उपद्रव की सूचना पर चकेरी थाने की फोर्स पहुंची। अफसरों ने सर्किल की फोर्स को भी मौके पर भेजा। काफी जद्दोजहद के बाद पुलिस आक्रोशित मजदूरों को शांत कराने में सफल रही। सूत्रों की मानें तो 6 लाख रुपए का मुआवजा देने के आश्वासन पर परिजन भी शांत हो गए।

03-12-2019170203Ruckusoverth1

चकेरी थाना एरिया के जाजमऊ (देवीगंज) निवासी दिलीप कठेरिया (20) हिंदुस्तान कंपाउंड स्थित मॉस टेनरी में काम करता था। मंगलवार सुबह दिलीप जब टेनरी पहुंचा तो उसे टैंक की सफाई के लिए जबरन उतार दिया गया। उसे सेफ्टी के उपकरण भी मुहैया नहीं कराए गए। बिना सुरक्षा उपकरण के टैंक में उतरा दिलीप थोड़ी देर बाद टैंक में ही जहरीली गैस के रिसाव से बेहोश हो गया। वहां मौजूद साथी मजदूर उसे किसी तरह बाहर निकाल अस्पताल ले गए लेकिन चिकित्सकों ने दिलीप को मृत घोषित कर दिया।

दिलीप की मौत के बाद टेनरी में काम कर रहे अन्य मजदूर आक्रोशित हो गए। टेनरी के अंदर शव को रख मजदूरों ने बवाल शुरु कर दिया। परिवार के लोग पहुंचे तो मामला और गरम हो गया। थोड़ी देर में टेनरी के अंदर तोड़फोड़ शुरु हो गई। पथराव होते ही अफरा-तफरी फैली। कंट्रोल रूम की सूचना पर चकेरी फोर्स पहुंची।

इस बीच सपा के कुछ नेता भी पहुंच गए। आक्रोशित कर्मचारियों का आरोप है कि वो लोग टैंक की सफाई नहीं करते हैं, लेकिन एचआर ने जबरन दिलीप को टैंक की सफाई के लिए उतार दिया था। थोड़ी ही देर में सर्किल की फोर्स भी पहुंच गई। पुलिस के अफसरों ने किसी तरह दिलीप के परिजनों से बातचीत कर मामले को शांत कराया। बताया जा रहा है कि टेनरी मालिक ने 6 लाख रुपए बतौर मुआवजा दिया। जिसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ।

बंदी के बाद भी संचालित हो रही थी टेनरी

जाजमऊ में श्रमिक की मौत के बाद यहां की टेनरियों को लेकर सवालिया निशान फिर से खड़े होने लगे हैं। उल्लेखनीय है कि गंगा में प्रदूषण को रोकने के लिए पिछले कई महीने से यहां की सभी टेनरियों को बंद कर दिया गया है। लेकिन उसके बाद भी ये टेनरी संचालित हो रही थी। शायद दिलीप की मौत न हुई होती तो इसका खुलासा भी नहीं हो पाता। हालांकि, ट्रीटमेंट प्लांट में आने वाले फ्लो जरूर कई बार चोरी छिपे टेनरियों के चलने की गवाही दे चुका है।

टेनरी बंदी के आदेशों को ताक पर दबंग टेनरी मालिक न सिर्फ टेनरियों में चोरी छिपे काम कर रहे हैं बल्कि नौकरी से निकाल देने की धमकी देकर श्रमिकों को मौत के मुंह में धकेलने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। मालुम हो कि जाजमऊ की टेनरी में इस तरह का ये कोई पहला मामला नहीं है। पहले भी कई मजदूर जहरीली गैस के रिसाव में फंसकर अपनी जान गवां चुके हैं। इन सब के बाद भी जिला प्रशासन की तरफ से टेनरी मालिकों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

यह भी पढ़ें:-... #NewstimesTrending : 2-3 दिसंबर की वह रात जब सांसे ही बन गयी थी कातिल

Web Title: Ruckus over the death of a laborer due to poisonous gas in a tanery in Kanpur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया