ठंड बढ़ने के बावजूद किसी भी गोशाला में नहीं लगे तिरपाल


NP1181 04/12/2019 17:03:44
88 Views

Lucknow. एक सप्ताह पूर्व जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने सभी एसडीएम और तहसीलदारों को अपने-अपने क्षेत्र के गो आश्रय स्थलों में गोवंश को ठंड से बचाव के लिए तिरपाल और टीनशेड पर पुआल आदि डालने का निर्देश दिया था। इसके लिए उन्होंंने ठंड बढ़ने से पहले व्यवस्था करने के लिए कहा था, इसमें तहसील के अधिकारियों को प्रधानों की मदद करने के लिए भी कहा गया था,लेकिन बीती रात पारा 10 डिग्री तक पहुंच जाने के बावजूद अभी तक किसी भी गो आश्रय स्थल में तिरपाल की व्यवस्था नहीं की गयी है।

04-12-2019171129Despitethepr1

वहीं, प्रधानों का कहना है कि सरकार ने अभी कोई बजट नहीं दिया है और कई प्रधान ऐसे भी हैं, जिन्होंने सामग्री उधार लेकर गोशालाओं में टीनशेड, चरही, समर्सिबल पम्प आदि लगवा लिया, लेकिन अभी तक उसका पैसा नहीं मिला है। जिससे वे प्रधान आगे काम कराने से कतरा रहे हैं। इसके अलावा दो-दो माह का चारे का पैसा नहीं मिलता है। 

ठंड लगने से जानवरों की हालत बिगड़ने का सिलसिला शुरू

ठंड लगने से जानवरों की हालत बिगड़ने का सिलसिला शुरू हो गया है। एक तो अधिकतर गोशालाओं में भूसा या पुआल का सूखा चारा खाने की व्यवस्था है, जिससे जानवरों का पेट नहीं भर सकता। वहीं, दूसरी ओर प्रधानों का ​कहना है कि 30 रूपये में जानवरों को चारा भी खिलाना है और उनकी देखभाल करने वाले लेबरों को मजदूरी भी देनी है।

हर समय हरा चारा नहीं मिल सकता है। बरसात में हरा चारा मिल जाता है, ​लेकिन उसके बाद हरा चारा मिलने में परेशानी होती है। सैदापुर की गोशाला से एक गाय रात को तार के नीचे से बाहर निकल गयी और ठंड के मारे वह गाय सड़क किनारे की खाईं में गिर गयी और रात भर उठ नहीं पाई। सुबह उसे वहां के लेबर ने देखा और उठाने का प्रयास किया, लेकिन वह उठ नहीं पा रही थी। आने वाले दिनों में यदि ठंड से बचाव के इंतजाम न हुए तो यही हाल हर गोशाला का होने लगेगा। 

Web Title: Despite the progress, no tarpaulin was installed in the cowshed ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया