राज्यसभा: CAB पर चर्चा के दौरान बोले आनंद शर्मा- दो देशों की थ्योरी कांग्रेस नहीं हिंदू महासभा लायी थी...


NP1509 11/12/2019 14:03 PM
70 Views

New Delhi. केंद्रीय गृमंत्री अमित शाह ने बुधवार को राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल (CAB) पेश कर दिया है। सदन में बिल को पेश करते हुए अमित शाह ने कहा कि गलत सूचना फैलाई गई कि यह बिल भारत के मुसलमानों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि मैं यह पूछना चाहता हूं कि यह बिल भारतीय मुसलमानों से कैसे संबंधित है? वे भारतीय नागरिक हैं और हमेशा रहेंगे, उनके साथ कोई भेदभाव नहीं होगा। जिसके बाद विपक्ष की ओर से कांग्रेस नेता आनंद शर्मा अपना पक्ष रखा। 

Anand Sharma on CAB said that the Hindu Mahasabha had the theory of two countries

राज्यसभा में CAB पर चर्चा के दौरान कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि 2016 और वर्तमान बिल में काफी फर्क है और सभी दलों से बात करने का जो दावा किया जा रहा है उससे मैं सहमत नहीं हूं। इतिहास इसको कैसे देखेगा, उसे वक्त बताएगा। उन्होंने कहा कि ये बिल संवैधानिक, नैतिक आधार पर गलत है, ये बिल प्रस्तावना के खिलाफ है। ये बिल लोगों को बांटने वाला है। 

कांग्रेस सांसद ने कहा कि भारत की आजादी के बाद देश का बंटवारा हुआ था, तब संविधान सभा ने नागरिकता पर व्यापक चर्चा हुई थी। बंटवारे की पीड़ा पूरे देश को थी, जिन्होंने इसपर चर्चा की उन्हें इसके बारे में पता था। इतिहास को बदला नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि कई लोगों ने यह कोशिश की, लेकिन वे बदल नहीं पाए। कभी न कभी जब परिवर्तन होते हैं, तो सच्चाई और इतिहास प्रचंड रूप में खुद को प्रकट करता है। 

आनंद शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार कांग्रेस पर देश को बांटने का आरोप लगाती है। दो देशों की थ्योरी कांग्रेस नहीं लाई थी। उन्होंने कहा कि दो देशों की थ्योरी 1937 में अहमदाबाद में हिंदू महासभा ने प्रस्ताव पारित किया था, जिसकी अध्यक्षता वीर सावरकर जी ने की थी। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि 1955 में सिटिजनशिप एक्ट आया। उसके बाद 9 बार इसमें बदलाव किए गए, लेकिन संविधान से इसका कोई टकराव नहीं हुआ। क्योंकि धर्म के आधार पर भारत में नागरिकता इसके पहले कभी नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि CAB और NRC से देश में असुरक्षा का माहौल है। असम अभी जल रहा है, सरकार बताए कि असम में इतनी असुरक्षा का माहौल क्यों है?

राज्यसभा में अमित शाह का बयान 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पाकिस्तान और वर्तमान बांग्लादेश दोनों में धार्मिक अल्पसंख्यकों की आबादी में लगभग 20% की गिरावट आई है। या तो वे मारे गए या वे शरण के लिए भारत भाग गए। उन्होंने कहा कि गलत सूचना फैलाई गई कि यह बिल भारत के मुसलमानों के खिलाफ है। 

Anand Sharma on CAB said that the Hindu Mahasabha had the theory of two countries

गृहमंत्री ने कहा कि मैं यह लोगों से पूछना चाहता हूं कि यह बिल भारतीय मुसलमानों से कैसे संबंधित है? वे भारतीय नागरिक हैं और हमेशा रहेंगे, उनके साथ कोई भेदभाव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि भारत के किसी भी मुसलमान को इस बिल के कारण चिंता करने की जरूरत नहीं है। अगर कोई आपको डराने की कोशिश करे तो घबराएं नहीं। यह नरेंद्र मोदी सरकार संविधान के अनुसार काम कर रही है, अल्पसंख्यकों को पूरी सुरक्षा मिलेगी।

वहीं, असम में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर अमित शाह ने कहा कि 1985 में, असम समझौता हुआ था। राज्य की स्वदेशी संस्कृति की रक्षा के लिए खंड 6 में प्रावधान है। उन्होंने कहा कि मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि खंड 6 की निगरानी के लिए समिति के माध्यम से एनडीए सरकार असम के अधिकारों की रक्षा करेगी। ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन इस समिति का हिस्सा हैं।

यह भी पढ़ें:-...राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश, गृहमंत्री बोले- CAB का भारतीय मुसलमानों से संबन्ध नहीं

Web Title: Anand Sharma on CAB said that the Hindu Mahasabha had the theory of two countries ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया