#NewstimesTrending : निर्भया के दोषियों की फांसी का काउंटडाउन शुरू!


NP863 11/12/2019 14:51:53
107 Views

Lucknow. निर्भया केस के 7 साल पूरे होने से पहले आगामी 16 दिसंबर को लेकर चारों दोषियों(विनय शर्मा, अक्षय सिंह, पवन और मुकेश) को फांसी देने की चर्चाएं गरम हैं। दावा किया जा रहा है कि 16 दिसंबर को ही सभी दोषियों को फांसी दी जाएगी। इस कड़ी में हो रही तैयारियां भी इन दिनों चर्चाओं में शामिल है। 

11-12-2019151928NewstimesTrend2
यूपी के पास दो जल्लाद 
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जेल में बंद दोषियों की फांसी को लेकर जेल प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। रिपोर्टस दावा कर रही है कि फांसी को लेकर मेरठ में रहने वाले यूपी के दूसरे जल्लाद पवन के पास फोन भी आया है। फोन कहां से आया और किसने किया इसका खुलासा फिलहाल अभी नहीं हुआ है। बता दें कि देश में फांसी देने वाले जल्लादों की संख्या काफी कम है। यूपी में सिर्फ दो ही जल्लाद इलियास और पवन है। मौजूदा समय में इलियास की तबियत खराब है तो पवन का कहना है कि वह तीन दिन पूर्व की सूचना पर ही फांसी देने की प्रक्रिया पूरी कर देगा। 

11-12-2019152057NewstimesTrend3
निर्भया मामले में फांसी की बात को इससे भी बल मिल रहा है कि चारों दोषियों को तिहाड़ जेल लाया गया है। जबकि पहले एक दोषी पवन को दिल्ली की मंडोली जेल में रखा गया था। उसे भी सोमवार को तिहाड़ शिफ्ट किया गया। बता दें कि पवन को मंडोली की जेल नंबर-2 में रखा गया था। यहां अन्य दोषी मुकेश और अक्षय पहले से बंद थे जबकि चौथा आरोपी तिहाड़ जेल की बैरक नंबर 4 में बंद था। 
फास्ट ट्रैक कोर्ट में चला केस 
निर्भया के साथ हुई वारदात को लेकर मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चला। 2013 में निचली अदालत ने चारों को फांसी की सजा सुनाई जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट की ओर से भी 13 मार्च 2014 को इसी फांसी की सजा को बरकरार रखा गया। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने भी इसी सजा पर मुहर लगाई। 
राष्ट्रपति ने खारिज की याचिका 
कुछ दिन पहले मामले में दोषी विनय शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सामने दायर की गयी दया याचिका को वापस करने की अपील की थी। विनय की ओर से दलील दी गयी थी कि उस याचिका में उनसे हस्ताक्षर नहीं किये थे। हालांकि दिल्ली सरकार, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से पहले ही दोषियों की दया याचिका को खारिज करने की अपील की गयी थी।  

11-12-2019151916NewstimesTrend1
एक आरोपित लगा चुका फांसी एक पूरी कर चुका सजा
16 दिसबंर 2012 को निर्भया के साथ हुए दुष्कर्म और हत्या के मामले में कुल 6 आरोपित थे। इन आरोपितों में राम सिंह पहले ही आत्महत्या कर चुका है। जबकि दूसरा नाबालिग आरोपित जो बाल सुधार गृह में था वह 2015 में ही अपनी तीन साल की सजा पूरी कर चुका है। 
क्या था निर्भया कांड 
गौरतलब है कि 16 दिसंबर 2012 को दक्षिणी दिल्ली के मुनेरका की एक प्राइवेट बस में एक लड़की अपने दोस्त के साथ चढ़ी थी। 23 वर्षीय पैरा मेडिकल छात्रा के साथ उस रात नाबालिग समेत छह लोगों ने चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। इतना ही नहीं सामूहिक दुष्कर्म के बाद लोहे की रॉड से क्रूरतम आघात किया गया। इसके बाद घायल अवस्था में पीड़िता और उसके पुरुष साथी को चलती बस से महिपालपुर में बस से नीचे फेंक दिया गया। 
पीड़िता को गंभीर हालत में पहले सफदरगंज अस्पताल ले जाया गया जहां से मौजूदा शीला दीक्षित सरकार ने उसे बेहतर इलाज के लिए विशेष विमान से सिंगापुर भेजा। वारदात के 13 दिन बाद पीड़िता ने दम तोड़ दिया।

Web Title: NewstimesTrending tihar jail for hanging of nirbhaya convicts ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया