शादीशुदा मंगेतर ने दोस्तों के साथ मिलकर किया था हरप्रीत का मर्डर


NP1357 15/12/2019 16:57:51
80 Views

Lucknow. कानपुर के नजीराबाद थाना एरिया के जवाहर नगर (Jawahar Nagar) से दिल्ली जाने के लिए निकली ग्रंथी (सेवादार) गुरुबचन सिंह की बेटी हरप्रीत कौर (22) (Harpreet Kaur) का मर्डर (Murder) उसके ही शादीशुदा प्रेमी (Lover) (मंगेतर) ने दोस्तों के साथ मिलकर किया था। खुलासे के बेहद करीब पहुंच चुकी पुलिस (Police) ने शनिवार रात को एक आरोपी को दबोच लिया। उसके पास से हत्या में प्रयुक्त कार भी बरामद कर ली। इसी कार से कातिलों ने छात्रा (Student) के शव को ठिकाने लगाया था। पुलिस (Police) की एक टीम फरार मंगेतर की तलाश में पंजाब में डेरा डाले हुए है। मंगेतर युवराज (Yuvaraj) पंजाब प्रांत का ही रहने वाला है। युवराज दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारा (Bangla Sahib Gurudwara) में क्लर्क के पद पर तैनात था।

15-12-2019165903harpreetmurde1

पुलिस सूत्रों की मानें तो अभी तक की जांच पड़ताल में एक बात बिल्कुल साफ हो चुकी है कि हरप्रीत (Harpreet) की हत्या उसके शादीशुदा प्रेमी युवराज ने ही दोस्तों के साथ की थी। युवराज (Yuvraj) शादीशुदा है इसकी जानकारी हरप्रीत को कुछ महीना पहले ही हुई थी। सूत्रों की मानें तो इसके बाद भी हरप्रीत शादीशुदा प्रेमी पर विवाह के लिए दबाव बना रही थी। हरप्रीत के दबाव में युवराज ने शादी के लिए हां कर दी। 13 दिसंबर को सगाई की तारीख पक्की हुई। माना जा रहा है कि अपनी जिंदगी तबाह होते देख युवराज (Yuvaraj) ने हरप्रीत (Harpreet) को रास्ते से हटाने की योजना बना ली और एक दिन पहले ही उसे कानपुर आकर मार डाला।

पुलिस को गच्चा देने के लिए मोबाइल दिल्ली में ही छोड़ा

पुलिस सूत्रों के मुताबिक युवराज (Yuvraj) बेहद शातिर दिमाग है। पुलिस को गच्चा देने के लिए उसने अपना मोबाइल दिल्ली में ही छोड़ दिया। इसके बाद वह अपने दो दोस्तों के साथ कार से कानपुर आया। माना जा रहा है कि हरप्रीत (Harpreet) और युवराज (Yuvraj) में पहले ही तय हो गया था कि टाटमिल चौराहे पर मुलाकात होगी। शायद इसीलिए हरप्रीत ने मोबाइल पर परिजनों को टिकट कंफर्म होने की सूचना भी दे दी। 

पुलिस सूत्रों की मानें तो हरप्रीत कौर (Harpreet Kaur) और युवराज का रास्ते में झगड़ा भी हुआ। जिसके बाद उसने दोस्तों की मदद से हरप्रीत कौर की पहले पिटाई की फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद सभी ने उसके शव को महाराजपुर थाना एरिया में फेंक दिया।

हरप्रीत कौर 9 दिसंबर को अपने घर से दिल्ली में रह रहे बड़े भाई सुरेंद्र सिंह के घर जाने के लिए निकली। श्रमशक्ति एक्सप्रेस (Shramshakti Express) में उसका टिकट कंफर्म नहीं था, लेकिन न तो वह सेंट्रल स्टेशन (Central Station) पहुंची और न ही दिल्ली। 12 दिसंबर को उसकी लाश महराजपुर थाना एरिया के प्रेमपुर मोड़ के पास मिली। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी गला घोंटकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई।

यह भी पढ़ें- 

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हिंसक प्रदर्शन, पश्चिम बंगाल के पांच जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

 

Web Title: harpreet murder case news in hindi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया