यूपी विधानसभा सत्र: द्वितीय अनुपूरक बजट आज होगा पेश


NP1357 17/12/2019 11:44:22
41 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश विधान सभा (Uttar Pradesh Legislative Assembly) के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित (Speaker Hriday Narayan Dixit) ने 17 दिसम्बर से शुरू हो रहे विधान सभा के चतुर्थ सत्र (Fourth Session of Vidhan Sabha) को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए सभी दलीय नेताओं (All Party Leaders) से सहयोग का अनुरोध किया। विधान भवन में आयोजित सर्वदलीय बैठक में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना (Parliamentary Affairs Minister Suresh Kumar Khanna), नेता बसपा विधान मण्डल दल लालजी वर्मा (Lalji Verma), समाजवादी पार्टी के नेता उज्जवल रमण सिंह (Samajwadi Party Leader Ujjwal Raman Singh), कांग्रेस पार्टी की नेता आराधना मिश्रा मोना (Congress Party Leader Aradhana Mishra Mona) एवं अन्य सभी दलीय नेताओं ने अध्यक्ष को सदन चलाने में सहयोग का आश्वासन दिया।

17-12-2019120204UPassemblyse1

विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित (Legislative Assembly Speaker Hriday Narayan Dixit) ने सभी दल के नेताओं से अनुरोध किया कि वे अपना-अपना पक्ष सदन में शालीनता एवं संसदीय मर्यादाओं के अन्तर्गत रखें। अध्यक्ष ने दलीय नेताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की सामान्य जनता तमाम अपेक्षाओं के साथ विधान सभा की कार्यवाही (Proceedings of the Legislative Assembly) देखा करती है। विधान सभा की कार्यवाही का जीवन्त प्रसारण करने का निश्चय किया गया था।

जनता इस जीवन्त प्रसारण को बड़ी अपेक्षाभरी दृष्टि से देखती हैं। इसके प्रति जिज्ञासा भी बढ़ी है। यदि सुन्दर बहस विपक्ष (Opposition) की तरफ से हो रही होती है, विपक्ष की तरफ से वाद-विवाद, संवाद के माध्यम से सरकार (Government) का ध्यान आकृष्ट किया जाता है, तो आम जनता को बहुत संतोष होता है। लोकतंत्र के प्रति इनकी आस्था, निष्ठा और मजबूत होती है। अध्यक्ष ने आरोप-प्रत्यारोप व व्यक्तिगत आक्षेप से बचने की अपील की तथा सत्र को बिना अवरोध के चलाये जाने का दलीय नेताओं से आग्रह किया।

सदन में समय का हो सदुपयोग

बैठक में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना (Parliamentary Affairs Minister Suresh Khanna) ने कहा कि हम सार्थक, रचनात्मक बहस, विचार-विमर्श को बढ़ावा के साथ अधिकतम चर्चा, अधिक से अधिक दिनों तक सदन की कार्यवाही चलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सभी विषयों पर चर्चा के लिए तैयार है। सदन के प्रारम्भ के पहले दिन ही हंगामे की परम्परा टूटनी चाहिए। विधान सभा (Legislative Assembly) चर्चा के लिए है, चर्चा होनी चाहिए। हम भी चाहेंगे कि सत्ता पक्ष के लोग सभी बातों का जवाब दे।

इसके पूर्व संविधान दिवस (Constitution Day), सस्टेनेवल डेवलपमेंट (Sustainable Development) गोल्स पर सदन में चर्चा हो चुकी है। सार्थक परिणाम निकले है। संविधान दिवस (Constitution Day) पर सदन में विशेष सत्र की नई परम्परा डाली गयी। हम चाहते हैं कि सदन में 01-01 मिनट का सदुपयोग हो। उन्होंने दलीय नेताओं से अपील की मुद्दो एवं तथ्यों पर, सभी महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करें। सरकार प्रत्येक प्रकार से सदन संचालन में सहयोग प्रदान करेगी।  

बैठक में कई दलों के नेता रहे मौजूद

बैठक में बहुजन समाज पार्टी के नेता लाल जी वर्मा (Bahujan Samaj Party Leader Lal Ji Verma), समाजवादी पार्टी के नेता उज्जवल रमण सिंह (Samajwadi Party Leader Ujjwal Raman Singh), कांग्रेस पार्टी के नेता आराधना मिश्रा मोना (Congress party Leader Aradhana Mishra Mona), अपना दल (सोनेलाल) के नेता नील रतन पटेल (Neil Ratan Patel) एवं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता कैलाश नाथ सोनकर (Kailash Nath Sonkar) ने भी अपने-अपने विचार प्रकट किए और सदन की कार्यवाही को व्यवस्थित ढंग से चलाने में प्रत्येक प्रकार का सहयोग देने का आश्वासन देते हुए एक स्वर से सदन की कार्यवाही के सत्र के दिनां की संख्या बढ़ाये जाने पर बल दिया। उनका कहना था कि सदन कम दिन चलने से सभी सदस्य अपनी-अपनी बात सदन में नहीं कह पाते है। इस कारण भी अवरोध की स्थिति उत्पन्न होती है।

17 से 20 दिसम्बर तक कार्यक्रम घोषित

इसके पूर्व कार्य-मंत्रणा की बैठक सम्पन्न हुयी। हृदय नारायण दीक्षित (Hriday Narayan Dixit) ने बताया कि बैठक में 17 दिसम्बर से 20 दिसम्बर तक घोषित कार्यक्रमों पर चर्चा हुई। 17 दिसम्बर को वित्तीय वर्ष 2019-20 के द्वितीय अनुपूरक अनुदानों (Second Supplementary Grants) की मांगों का प्रस्तुतीकरण एवं इसी दिन नियम-103 के अंतर्गत सदन में प्रस्तुत चर्चाधीन प्रस्तावों पर भी चर्चा होगी। 18 दिसम्बर को निधन के निदेश लिए जाएंगे।

19 दिसम्बर को द्वितीय अनुपूरक अनुदानों पर चर्चा, विचार एवं मतदान एवं विनियोग विधेयक का पुरःस्थापन, विचार एवं पारण होगा। 20 दिसम्बर को अन्य मदों के साथ विधेयकों के प्रस्तुतीकरण व पारण का कार्य सम्पन्न होगा। आवश्यकतानुसार कार्यमंत्रणा समिति पुनः बैठेगी। इस अवसर पर विधान सभा के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे, संसदीय अनुभाग उ0प्र0 एवं विधान सभा के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- 

पूर्व राष्ट्रपति ने सरकार से की अपील, लोकसभा में 1000 करें सदस्यों की संख्या

नागरिकता कानून: हिंसक प्रदर्शन की आशंका, बढ़ाई गई गृह मंत्री अमित शाह के घर की सुरक्षा

लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरवणे होंगे देश के अगले आर्मी चीफ

Web Title: UP assembly session second supplementary budget will be presented today ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया