नागरिकता कानून के विरोध में जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शन, भीम आर्मी नेता चंद्रशेखर गिरफ्तार


NP1357 20/12/2019 14:34 PM
139 Views

New Delhi. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Law) के विरोध में पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। नागरिकता कानून (Citizenship Law) के खिलाफ गुरुवार यानि 19 दिसम्बर को दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, अहमदाबाद और मुम्बंई सहित तमाम जगहों पर प्रदर्शन हुए। उत्तर प्रदेश के लखनऊ और कर्नाटक में हिंसात्मजक प्रदर्शन (Violent Demonstration) हुए, जिसमें लखनऊ में एक नागरिक की मौत हो गई थी। वहीं, कर्नाटक में दो लोगों की मौत हो गई थी। दिल्ली में आज यानि 20 दिसम्बर को जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद  (Jama Masjid) के बाहर प्रदर्शन शुरू हो गए हैं।

Protest outside Jama Masjid in protest against citizenship law

दिल्ली में जामा मस्जिद (Jama Masjid) के बाहर भीम आर्मी (Bhim Arym) के लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। जामा मस्जिद (Jama Masjid) के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी (Saiyad Ahmad Bukhari) भी मस्जिद में मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि जामा मस्जिद (Jama Masjid) के बाहर हो रहे प्रदर्शन को भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर लीड कर रहे हैं। भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर  (Chandra Shekhar) को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। दिल्ली पुलिस के पीआरओ (PRO) एमएस रंधावा भी हालात का जायजा लेने और हालातों से निपटने के लिए मौजूद हैं। उन्होंने जामा मस्जिद के बाहर मौजूद भीड़ से शांतिपूर्वक चले जाने को कहा है। 

तीन मेट्रो स्टेशन बंद किए गए 

दिल्ली  में एहतियातन कई मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। चावड़ी बाजार, लालकिला और जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन (Metro Station) को बंद कर दिया गया है। जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद (Jama Masjid) के बाहर तिरंगा लेकर लोग मार्च निकाल रहे हैं। दिल्ली में ड्रोन के जरिये नजर रखी जा रही है। प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस (Police) फोर्स तैनात कर दी गई है। 

Protest outside Jama Masjid in protest against citizenship law

कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी हिरासत में

वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) के आवास के प्रदर्शन कर रहे करीब एक दर्जन नेताओं को पुलिस  (Police) ने हिरासत में ले लिया है। हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारियों में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शमिष्ठा मुखर्जी (Sharmishtha Mukharji) भी शामिल हैं।

पूरे देश में हुए प्रदर्शन, लखनऊ में हिंसा

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Law) के विरोध में पूरे देश में प्रदर्शन हो रहा है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, अहमदाबाद और मुम्बई सहित कई जगहों पर प्रदर्शन हुए। यूपी की राजधानी लखनऊ और कर्नाटक में हिंसात्मकक प्रदर्शन (Violent Demonstration) हुए। प्रदर्शनकारियों दो पुलिस चौकी को सहित बसें और वाहनों को आग के हवाले का दिया था।

इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर झड़प भी हुई, जिसमें तमाम पुलिसकर्मी घायल हुए। वहीं, प्रदर्शनकारियों की ओर से हुई फायरिंग में एक की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य गम्भीर रूप से घायल हो गए थे। कर्नाटक में भी प्रदर्शन के दौरान दो लोगों की मौत हो गई है, जबकि 20 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। 

इंटरनेट और मैसेज सेवा बंद

वहीं, यूपी प्रशासन ने लखनऊ सहित प्रदेश के करीब 20 जिलों में इंटरनेट और मोबाइल सेवा (Mobile Service) को बंद कर दिया है। हालांकि अब स्थिति सामान्य है, लेकिन तनाव बना हुआ है। जुमे की नमाज को देखते हुए प्रशासन कड़ी नजर बनाए हुए है। पुलिस  (Police) बल फ्लैगमार्च के जरिए शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदेश के कई जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। 

सीएम योगी ने दी कड़ी चेतावनी

वहीं, सीएम योगी आदित्यतनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कड़े शब्दोंं में चेतावनी देते हुए कहा कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा, पहचान की जा रही है, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि सार्वजनिक सम्पत्ति के हुए नुकसान की भरपाई उपद्रवियों की सम्पत्ति को कुर्क करके की जाएगी।

संभल में करीब 30 लोग गिरफ्तार

वहीं, संभल में प्रदर्शनकारियों ने बसों को आग के हवाले कर दिया था, जिसे लेकर प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई की। प्रशासन ने सपा सांसद शफीकुर्ररहमान सहित करीब 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। प्रशासन ने उपद्रवियों से निपटने के लिए हर तरह से सख्त कदम उठा रही है।

यह भी पढ़ें- 

अर्थव्यवस्था बिगड़ने के लिए पीएम मोदी ने पूर्व की सरकारों को ठहराया जिम्मेदार

उन्नाव गैंगरेप केस में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उम्र कैद

Web Title: Protest outside Jama Masjid in protest against citizenship law ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया