अखिलेश की प्रेसवार्ता में जासूसी की लिए भेजा गया यह शख्स, समाजवादी पार्टी ने...


NP863 22/12/2019 15:11:19
296 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी कार्यालय(Samajwadi Party Office Lucknow) पर रविवार(22 दिसंबर) को अध्यक्ष अखिलेश यादव(Ahilesh Yadav) ने प्रेसवार्ता को संबोधित किया। इस दौरान अखिलेश यादव प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार(BJP Government) पर हमलावर रहें। इसके बाद समाजवादी पार्टी(Samajwadi Party) की ओर से ट्वीट कर अखिलेश यादव की प्रेसवार्ता की जासूसी के बारे में जानकारी दी गयी। 

22-12-2019151403Akhileshyadav1
समाजवादी पार्टी की ओर से किये गये ट्वीट में लिखा गया कि, भाजपा सरकार इतनी डरी हुई है कि आज समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की प्रेसवार्ता में पुलिस के एसआई भानु प्रताप को जासूसी के लिए भेजा। अपने दमन से डराने में हर बार नाकाम भाजपाई सत्ता भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में अब तक की सबसे अलोकतांत्रिक सरकार है।शर्मनाक!

 

 

गौरतलब है कि यूपी में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार हो रही हिंसा की वारदातों पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार पर जोरदार हमला बोला। अखिलेश यादव ने मौजूदा सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि इस समय दंगा करवाने वाले लोग सरकार में ही बैठे हुए हैं। सरकार खुद ही माहौल बिगाड़ रही है। वह रोजगार नहीं दे सकते इसलिए माहौल खराब कर रहे हैं, जिससे सवालों से बचा जा सके। 
अखिलेश यादव ने कहा कि - 
* उप्र के मुख्यमंत्री भी कमाल के है जो धमकी दे रहे हैं। इससे पहले उन्होंने सदन में ही ठोकने की धमकी दी थी। यूपी में जितने लोगों की जान गयी वह मुख्यमंत्री की वजह से गयी। 
* दंगा करवाने वाले इस समय सरकार में बैठे। दंगे से उन्हीं को लाभ मिलेगा जो सरकार में बैठे। असल मुद्दों से सरकार भटक गयी है। अगर क्लिप देख सरकार उपद्रवियों को चिन्हित कर रही तो वह वीडियो भी देखना चाहिए जिसमे पुलिस और प्रशासन के लोग खुद तोङफोङ कर रहें। 
* क्या मुख्यमंत्री की भाषा हो सकती है बदला लो और ठोंको।  कोई इनवेस्टमेंट आया हो तो हमे भी बताए। पङोस के उन्नाव को ही देख लीजिए जहां दो बच्चियां इंसाफ के लिए भटकी। एक को कोर्ट से न्याय मिला। 
* जनता से अपील यह सरकार हटाइए। नए साल में इनके विधायक ही 20-20 खेलने को तैयार है। मुख्यमंत्री यह ध्यान रखें कि जिनके घर शीशे के हो वह दूसरो के घर पर पत्थर नहीं फेंकते। 
* लोकभवन बनाया तो समाजवादी पार्टी की सरकार ने था लेकिन प्रतिमा किसकी लग रही है। अब तो इसमें दिल्ली वाले लोग भी शामिल है। अगर 200 नाराज विधायक आ जाए तो 50 हमारे ले लें, फिर अपना मुख्यमंत्री बना लें, यह बंपर आफर है 20-20 का। 
* 23 तारीख को हमारा कार्यक्रम था तो धारा 144 का हवाला देकर कार्यक्रम रद्द कर दिया। देखना है 25 को भी धारा 144 लागू रहेगी या नहीं। 

Web Title: Akhilesh yadav Ki press varta ki hui jasosi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया