गोरखपुर में बच्चों की मौत का अखिलेश ने बताया चौंकाने वाला आंकड़ा, मचा हड़कंप


NP1509 03/01/2020 17:54 PM
136 Views

Lucknow. राजस्थान के कोटा (Kota) के जेके लोन अस्पताल (JK Lone Hospital) में एक महीने के भीतर 100 से ज्यादा शिशुओं की मौत के मामले में प्रदेश सरकार सवालों के घेरे में है। अब इस मामले में राजनीति शुरू हो गयी है। वहीं, गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत के मुद्दे को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) पर निशाना साधा है। अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर (Gorakhpur) में बीते 12 महीने के दौरान एक हजार बच्चों की मौत हुई है।

03-01-2020175325Akhileshtold1

शुक्रवार को लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अखिलेश (Akhilesh) ने आरोप लगाया कि उन्हें (सीएम योगी) कोटा में शिशुओं की मौत की चिंता है। लेकिन गोरखपुर (Gorakhpur) में बच्चों की मौत के बारे में कब विचार करेंगे?' उन्होंने आरोप लगाया कि गोरखपुर में दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों को गलत दवाइयां दी जा रही थीं जिससे कि इससे जुड़ी सच्चाई सामने न आ सके।

सपा अध्यक्ष ने गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि डॉक्टरों की जानकारी में था कि उन बच्चों को कौन सी बीमारी है लेकिन इंसेफेलाइटिस (Encephalitis) से मौतों के आंकड़े ठीक रखने के लिये उन्हें उस बीमारी की दवा नहीं दी गयी। इस वजह से हजार से ज्यादा बच्चों की जान गयी।

 

यूपी के पूर्व सीएम ने कहा कि वह आने वाले समय में इन मृत बच्चों की सूची जारी करेंगे। सरकार बताए कि बच्चों को गलत दवा किसलिये दी गयी और इसका जिम्मेदार कौन है?

बता दें कि गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ के दफ्तर ने कोटा में बच्चों की मौत पर ट्वीट कर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) पर तीखा हमला बोला था। वहीं, अखिलेश यादव ने सीएम योगी के ट्वीट को लेकर उन पर निशाना साधा है। यूपी के सीएम योगी गोरखपुर से ताल्लुक रखते हैं, सीएम बनने पहले से वह गोरखपुर से सांसद रहे हैं। 

यह भी पढ़ें:-...गोपनीय पत्र वायरल को लेकर बोले DGP- एसएसपी नोएडा ने सर्विस रूल के खिलाफ किय़ा काम

Web Title: Akhilesh told the shocking figure of the death of children in Gorakhpur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया