सत्ता में आए तो सीएए के विरोध में दर्ज मुकदमे होंगे वापस: अखिलेश यादव


NP1357 09/01/2020 17:09:16
191 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि सपा (SP) की सरकार बनते ही नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में दर्ज सभी मुकदमे तत्काल वापस लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi) ने सिखा दिया है कि किस तरह से मुकदमे वापस लिए जाते हैं। 

09-01-2020171106Ifcasescome1

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) गुरुवार को कानपुर के बाबूपुरवा स्थित हिंसाग्रस्त क्षेत्र में कुछ दिन पहले विरोध-प्रदर्शन के दौरान मारे गए तीन युवकों के परिजनों से मुलाकात की और 5-5 लाख रुपए की आर्थिक मदद भी दी। इसके बाद मीडिया से बातचीत के दौरान अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने योगी सरकार पर करारा निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि सीएए (CAA) के खिलाफ देश और प्रदेश में जमकर प्रदर्शन हुए, लेकिन गोली कुछ खास जिलों में ही चलाई गई। जिन लोगों की मौत हुई है, उनको पुलिस (Police) की गोली लगी है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के रिटायर्ड जज से जांच करा ली जाए तो पता चल जाएगा कि दोषी कौन है? सीसीटीवी (CCTV) कैमरों में सारी घटना कैद है। उससे खुद ब खुद पता लग जाएगा।

09-01-2020171119Ifcasescome3

पुलिस प्रशासन की नाकामी की वजह से हुईं घटनाएं

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा कि हिंसा कुछ जिलों में ही क्यों हुई हैं? पुलिस ने गोलियां क्यों चलाईं? इसकी भी जांच होनी चाहिए। सपा (SP) सुप्रीमो ने तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश सरकार के अनमोल अधिकारियों की वजह से लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। उन्होंने कहा कि पुलिस (Police) और शासन की नाकामी की वजह से इस तरह की घटनाएं हुईं।

पूर्व मुख्यमंत्री के दौरे को देख आरएएफ तैनात

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बाबूपुरवा स्थित हिंसाग्रस्त में क्षेत्र में दौरे के मद्देनजर पुलिस का पहरा काफी सख्त रहा। क्षेत्र में सुबह से आरएएफ (RAF) समेत भारी पुलिस (Police) बल को तैनात किया गया था ताकि किसी तरह से माहौल न बिगड़ सके। अखिलेश (Akhilesh) के आने की वजह यहां पर लोगों की भीड़ काफी अधिक रही। करीब-करीब हर घर की छत पर लोग मौजूद रहे।

09-01-2020171111Ifcasescome2

तीन लोगों की हुई थी मौत

बता दें कि 20 दिसंबर को जुमे की नमाज के बाद बाबूपुरवा थाना एरिया के बेगमपुरवा में हिंसा के दौरान जमकर गोलियां चलीं थीं। इसमें मोहम्मद सैफ (24),  आफताब आलम (22) और रईस खान (30) की मौत हो गई थी। हिंसा में करीब दर्जन भर लोग घायल हुए थे। 

यह भी पढ़ें- 

आईएसआईएस माड्यूल का खुलासा, तीन संदिग्ध गिरफ्तार

विपक्षी एकजुटता में दरार- सोनिया गांधी की बैठक में शामिल नहीं होंगी ममता, ये है वजह

Web Title: If cases come to power cases filed against CAA will be back ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया