सत्ता की हनक: कोर्ट का गिरफ्तारी वारंट भी भाजपा विधायक पर बेअसर!


NP1357 10/01/2020 12:17:07
214 Views

Lucknow. वन विभाग (Forest Department) की ओर वर्ष 2006 मे तत्कालीन गोला विधायक अरविंद गिरि (MLA Arvind Giri) सहित एक दर्जन आरोपियों पर वन क्षेत्र में घुसकर हंगामा करने व वन्यजीव जंतु संरक्षण कानून (Wildlife Animal Protection Act) का उल्लंघन करने में मुकदमा दर्ज कराया गया था, जिसकी सुनवाई अपर जिला जज तृतीय की कोर्ट मे होनी थी। कोर्ट (Court) की सुनवाई पर विधायक अरविंद गिरि (MLA Arvind Giri) नदारद रहे। जिसके चलते अपर जिला जज तृतीय प्रवीण कुमार सिंह ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। इसके बावजूद कोर्ट में हाजिर नहीं हुए हैं। वहीं, पुलिस कोर्ट के आदेश के बावजूद विधायक की गिरफ्तारी करने को लेकर ढुलमुल रवैया अपना रही है। हालांकि मामले में अगली सुनवाई की 21 जनवरी मुकर्रर की गई है। 

10-01-2020121846Courtarrestw1

बता दें कि जनप्रतिनिधियों के खिलाफ कई वर्षों से चल रहे मुकदमों का शीघ्र निस्तारण करने के लिए वर्ष 2018 में इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में एक विशेष अदालत बनाई गई, जहां  पूरे प्रदेश से सभी माननीयों के लंबित मुकदमे तलब कर लिए गए। लेकिन पूरे प्रदेश के माननीयों के लंबित मुकदमों की संख्या बहुताधिक होने के कारण इन मुकदमों की सुनवाई के लिए हर जिले में एक विशेष अदालत का गठन कर निस्तारण किए जाने का निर्णय लिया गया। ताकि माननीयो पर लंबित चल रहे मुकदमों का शीघ्र निस्तारण हो सके। 

11 साल से चल रहा है मुकदमा

इसी कडी में अप्रैल 2006 में वन विभाग ने तत्कालीन गोला विधायक अरविंद गिरि (MLA Arvind Giri) सहित एक दर्जन आरोपियों पर वन क्षेत्र में घुसकर हंगामा करने तथा वन्य जीव जंतु संरक्षण अधिनियम का उल्लंघन करने सहित विभिन्न सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था, जिसकी कोर्ट में सुनवाई की शुरुआत 28 मार्च, 2009 से हुई थी, लेकिन इन 11 सालोंं मे माननीय हर बार कोर्ट की सुनवाई से कन्नी काटकर अदालत को मुंह चिढाते रहे। जबकि इन ग्यारह सालों में लगातार माननीय जनता के बीच रहे, लेकिन कोर्ट जाना मुनासिब नहीं समझा। 

एसपी से तलख की आख्या

इस केस की सुनवाई 24 अक्टूबर, 2 नवम्बर, 8 नवम्बर, 28 नवम्बर, 23 दिसम्बर को हुई, लेकिन विधायक गैर हाजिर रहे। विधायक 9 जनवरी को भी अपर जिला जज तृतीय प्रवीण कुमार सिंह के कोर्ट में नहीं पहुंचे। जिसके चलते अदालत ने सख्त रुख अपनाते हुए गोला विधायक अरविंद गिरि के खिलाफ पुनः गैर जमानती वारंट जारी कर एसपी से इस सम्बंध मे आख्या तलब की है। 

मुकदमा निरस्त कराने के लिए शासन में किया अप्लाई

हास्यास्पद पहलू यह है कि कोर्ट के आदेश के मुताबिक, पुलिस अधीक्षक को विधायक की गिरफ्तारी कर कोर्ट में पेश किए जाने के आदेश भी हवा हवाई साबित रहे। अब अगली पेशी 21 जनवरी मुकर्रर की गई है। इस मामले में विधायक अरविंद गिरि ने बताया कि हम न्यायालय के समक्ष उपस्थित होकर कार्यवाही सुनिश्चित कराते, लेकिन  मुकदमा निरस्त कराने के लिए शासन में अप्लाई किया है हमें पूर्ण विश्वास है कि हमारी निर्दोष स्थिति को ध्यान में रखते हुए शीघ्र सरकार मुकदमा वापस लेगी।

यह भी पढ़ें- 

NCRB Report 2018 : आपराधिक मामलों में यह प्रदेश रहा नंबर वन

दीपिका की फिल्म 'छपाक' के समर्थन में अखिलेश यादव ने उठाया ये बड़ा कदम

Web Title: Court arrest warrant also neutralizes BJP MLA ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया