Makar Sankranti 2020: जानें कब और कैसे मनाया जाएगा यह पर्व...


NP1550 13/01/2020 11:58:07
159 Views

Lucknow. सर्दी का मौसम अपने चरम पर पहुंच चुका है। एक और जहां सूरज की आंख-मिचौली से लोग परेशान रहते हैं, तो वहीं दूसरी ओर तिल, गुड़ और उससे बने पकवान भी इस मौसम की खासियत है। हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार मकर संक्राति (makar sankranti) भी इसी ऋतु में पड़ता है। सूर्य देव को समर्पित यह त्योहार सनातन संस्कृति में आदि काल से मनाया जाता रहा है। ज्योतिष के अनुसार, मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। मकर संक्रांति (makar sakranti 2020) के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण (uttarayan) होता है, जो कि बहुत ही शुभ घटना है। आज हम आपको इस पर्व के महत्व के बारे में बताएंगे  

13-01-2020120651MakarSankrant3

►इस तारीख को मनाई जाएगी संक्राति

पर्व की तारीख को लेकर अक्सर भ्रम का माहौल रहता है। लोहड़ी (lohri 2020) और मकर संक्रांति (happy makar sankranti) का पर्व अक्सर लगातार 13 व 14 जनवरी को पड़ते हैं। लेकिन इस बार लोहड़ी (happy lohri) 13 जनवरी को पड़ रही है जबकि मकर संक्रांति 15 जनवरी को है। क्योंकि ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस बार सूर्य का मकर राशि में प्रवेश 14 जनवरी की रात 02:07 बजे है, इसलिए संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी। धार्मिक नज़रिए देखें तो इस दिन सूर्य अपने पुत्र शनिदेव से नाराजगी छोड़कर उनके घर मिलने आते हैं। यही कारण है कि मकर संक्रांति के दिन को सुख और समृद्धि से भी जोड़ा जाता है। 

13-01-2020120621MakarSankrant1

►क्या है मकर संक्रांति

मकर संक्रांति में 'मकर' शब्द मकर राशि को इशारा करता है जबकि 'संक्रांति' का अर्थ संक्रमण अर्थात प्रवेश करना है। मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है। एक राशि को छोड़कर दूसरे में प्रवेश करने की इस क्रिया को संक्रांति कहते हैं। ज्योतिषीय गणना के अनुसार मकर संक्रांति से ही सूर्य उत्तरायण होंगे। 

►ऐसे मनाते हैं मकर संक्राति

मकर संक्राति के पर्व को उत्तरायण भी कहा जाता है। मकर संक्राति के दिन गंगा स्नान, व्रत, कथा, दान और भगवान सूर्यदेव की उपासना करने का विशेष महत्व है। इस दिन लोग प्रात: नदी में स्नान करने के बाद अग्निदेव व सूर्यदेव की पूजा करते हैं। मंदिरों व ब्राह्मणों व गरीबों को दान देते हैं।

इसके बाद तिल के लड्डू, खिचड़ी और पकवानों की मिठास के साथ मकर संक्रांति का पर्व मनाते हैं। गुजरात और दिल्ली समेत देश के कई इलाकों में आज के दिन लोग पतंगबाजी भी करते हैं। मकर संक्रांति पर माघ मेले में भारी संख्‍या में साधु-संतों की भीड़ देखी जा सकती है। 

13-01-2020120641MakarSankrant2

►मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त

मकर संक्रांति 2020- 15 जनवरी
संक्रांति काल- 07:19 बजे (15 जनवरी)
पुण्यकाल-07:19 से 12:31 बजे तक
महापुण्य काल- 07:19 से 09: 03 बजे तक
संक्रांति स्नान- प्रात: काल, 15 जनवरी 2020

13-01-2020120703MakarSankrant4

►तिल का ऐसे करें उपयोग

सूर्य देव को तिल के दाने डालकर जल अर्पित करें
स्टील या लोहे के पात्र में तिल भरकर अपने सामने रखें
फिर "ॐ शं शनैश्चराय नमः" मंत्र का जाप करें
किसी गरीब व्यक्ति को बर्तन समेत तिल का दान कर दें
इससे शनि से जुड़ी हर पीड़ा से मुक्ति मिलेगी 

Web Title: Makar Sankranti 2020 How and when to celebrate this festival ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया