बजट 2020: मोदी सरकार के सामने हैं ये बड़ी चुनौतियां, पीएम ने जनता से मांगी राय


NAZO ALI SHEIKH 13/01/2020 16:46:23
23 Views

Lucknow. बजट 2020 की तैयारी जोर-शोर से जारी है। हर किसी की नजर पेश होने वाले बजट पर लगी हुई है। 1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) बजट पेश कर सकती हैं। पीएम मोदी ने ट्वीट कर जनता से बजट को लेकर राय मांगी है। इसके साथ ही उन्होंने देश के तमाम उद्योगपतियों (Industrialists) और आर्थिक जानकारों के साथ बैठक की। वित्त मंत्री भी आर्थिक जानकारों और बैंकरों से लगातार मिल कर उनसे इस मुद्दे पर चर्चा कर रही हैं। 

13-01-2020164940Budget2020T1

  6 सालों के सबसे न्यूनतम स्तर पर विकास दर

आर्थिक मंदी के कारण विकास दर 6 सालों के न्यूनतम स्तर (Minimum Level) पर पहुंच गई है। सरकार का खजाना तेजी से खाली हो रहा है, जिस कारण एक बार फिर रिजर्व बैंक (Reserve Bank) से 45 हजार करोड़ मदद की तलाश की जा रही है। बेरोजगारी दर उच्च स्तर पर है, आर्थिक गतिविधि थम चुकी है। ऐसे में वित्त मंत्री के रूप में निर्मला सीतारमण ने अब तक क्या किया है और बजट में उनसे क्या उम्मीदें हैं, चलिए जानते हैं इसके बारे में। 

  आरबीआई से मदद की मांग

बजट 2019 के ऐलान के बाद वित्त मंत्री ने उद्योग जगत की मांग को देखते हुए कॉर्पोरेट टैक्स को 30 फीसदी से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया है। इससे सरकारी खजाने पर हर साल 1.5 लाख करोड़ रुपये का बोझ बढ़ गया है। इस बजट में कॉर्पोरेट टैक्स पर फैसला बहुत बड़ी चुनौती होगी। 

  पहली चुनौती

सुपर रिच टैक्स को लेकर फैसले को भी बाद में वापस लिया गया, इसकी वजह है विदेशी निवेशकों का भागना और लगातार निवेश निकालना, इससे भी सरकार की कमाई घटी। 

यह भी पढ़ें... इधर कांग्रेस करती रही मीटिंग, उधर आम आदमी पार्टी ने चल दिया बड़ा दांव

  दूसरी चुनौती

स्टार्टअप्स को राहत देते हुए एंजल टैक्स को वापस लिया गया था। लेकिन इसका लाभ पाने के लिए स्टार्टअप्स को डीपीआईआईटी में रजिस्‍टर होना आवश्यक है। 

  तीसरी चुनौती

सरकार को जीएसटी से जितनी कमाई की उम्मीद थी, उतनी नहीं हुई। जीएसटी से होने वाली कमाई लक्ष्य से काफी कम है। इसका भी असर सीधे सरकारी खजाने पर पड़ा है। इन तमाम कारणों के कारण राजकोषीय घाटा लगातार बढ़ रहा है। लाख प्रयासों के बावजूद सरकार तय राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को पार कर रही है और इस बजट में उस लक्ष्य के अंदर रखना मोदी सरकार के लिए बड़ी चुनौती है। 

13-01-2020165144Budget2020T3

  चौथी चुनौती

चालू वित्त वर्ष में सरकार ने 19.6 लाख करोड़ खर्च करने का लक्ष्य बनाया है, लेकिन खजाना खाली होने के कारण फंड नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में सरकार एक बार फिर से रिजर्व बैंक से 45000 करोड़ मदद की उम्मीद लगा रही है। 

  पांचवीं चुनौती

इस बजट में सरकार का पूरा फोकस आर्थिक सुस्ती को दूर करने पर होगा। मांग में कमी को आर्थिक सुस्ती की सबसे बड़ी वजह बताया गया है। सरकार का पूरा प्रयास मांग में तेजी लाना होगा। मांग में तेजी लाने के लिए सरकार लोगों के हाथों में ज्यादा से ज्यादा पैसे देने के बारे में सोच रही है, लेकिन अभी तक के तमाम प्रयासों का कोई फायदा नहीं हुआ है। इसलिए उम्मीद जताई जा रही है कि बजट में टैक्स स्लैब में कटौती और बदलाव किया जा सकता है। 

Web Title: Budget 2020: These big challenges are in front of Modi government, PM sought opinion from public ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया