पिछली सरकारों की उपेक्षा के चलते किसान कर रहे थे आत्महत्या: सीएम योगी


NP1357 17/01/2020 14:06 PM
153 Views

Lucknow. प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने प्रगतिशील कृषक सम्मेलन में कृषि कल्याण व नवीन कृषि विज्ञान केंद्रों के शिलान्यास कार्यक्रम का उद्घाटन किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि सभी प्रगतिशील किसान भाईयों का अभिनंदन करता हूं, जिनके परिश्रम से कृषि उत्पादन आत्मनिर्भरता की ओर पुनः एक बार तेजी से बढ़ रहा है।

 Farmers were committing suicide due to neglect of previous governments

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछली सरकारों पर किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की धरती अत्यंत उर्वरा है, पर्याप्त जल संसाधन हैं, लेकिन 15-20 वर्षों में शासन की उपेक्षा के कारण किसान आत्महत्या के लिए मजबूर हो गए थे। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों को राजनीति के एजेंडे का हिस्सा बनाया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सम्मान निधि, किसानों की आय दोगुना करने, प्रोक्योरमेंट के जरिए किसानों को उनकी फसल का डेढ़ गुना दाम देने की योजना आदि के माध्यम से प्रधानमंत्री की प्रेरणा से प्रत्येक क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है।

बाण सागर परियोजना से 1.5 लाख किसान लाभान्वित

सीएम योगी ने कहा कि 2017 में सरकार के आते ही सीमांत किसानों के एक से डेढ़ लाख रुपए तक फसल ऋण माफ किए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बना, जहां सफलतापूर्वक ऋणमोचन कार्यक्रम को आगे बढ़ाया गया। उन्होंने कहा कि सरकार में आने के बाद विंध्य क्षेत्र में ‘बाण सागर परियोजना’ के लिए भारत सरकार के सहयोग और नाबार्ड के माध्यम से धन स्वीकृत कर 1 वर्ष में परियोजना पूर्ण की गई। इससे 1.75 लाख हेक्टेयर भूमि सिंचित है और 1.5 लाख किसान लाभान्वित हो रहे हैं।

 Farmers were committing suicide due to neglect of previous governments

 गन्ना किसानों को किया गया 82,000 करोड़ का भुगतान

सीएम योगी ने कहा कि वर्ष 2019 में 50 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद प्रदेश सरकार की प्रोक्योरमेंट नीति के अंतर्गत की जा चुकी है। ढुलाई, छनाई के लिए अतिरिक्त पैसा भी मण्डी परिषद के माध्यम से दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहली बार जून महीने के मध्य तक प्रदेश में चीनी मिलें चलती दिखाई दीं और 82,000 करोड़ का भुगतान गन्ना किसानों को किया गया, जहां महाराष्ट्र और कर्नाटक में आधी से ज्यादा चीनी मिलें बंद हुईं। वहीं, उत्तर प्रदेश में 121 चीनी मिलें चल रही हैं। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहा है कि किसानों की लागत कम हो और उनकी उत्पादकता बढ़े। इसके लिए 80-90 फीसदी सब्सिडी पर ड्रिप इरिगेशन को बढ़ावा दिया गया। इसके साथ ही अन्य तकनीकों को भी कृषि से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

किसानों का मार्ग दर्शन करेंगे कृषि उत्पादक संगठन

सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में 352 कृषि उत्पादक संगठन हैं। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में तय किया है कि प्रदेश के 823 विकासखण्डों में 1-1 कृषि उत्पादक संगठन अनिवार्य रूप से कार्य करना शुरू करे। द्वितीय चरण में 8,000 से अधिक न्याय पंचायतों के स्तर पर 1-1 कृषि उत्पादक संगठन हो और तृतीय चरण में लगभग 60,000 ग्राम पंचायतों में 1-1 कृषि उत्पादक संगठन अवश्य हो। उन्होंने कहा कि यहां मिलने वाले मार्गदर्शन से प्रदेश की उर्वरा धरती पर हमारे किसान भाई सोना उपजाने का काम करें। 

 Farmers were committing suicide due to neglect of previous governments

प्रदेश की तस्वीर और तकदीर बदलने के लिए सरकार ने व्यापक प्रयास किए: ओम बिड़ला

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सीएम योगी को धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश की तकदीर और तस्वीर के परिवर्तन के लिए व्यापक प्रयास किए हैं। उन्होंने इतनी बड़ी जनसंख्या के लिए कानून व्यवस्था एवं विकास देने के साथ-साथ किसानों की जिंदगी को बेहतर करने का काम किया है, जिससे आज कृषि उत्पादन के साथ ही किसानों की आय भी बढ़ी है। उन्होंने कहा कि पलायन रोकने के लिए बुंदेलखण्ड की जमीन पर जल संसाधन पहुंचाने और पेय जल पहुंचाने के लिए योगी सरकार ने व्यापक प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपनी नई सोच और दिशा से काम कर कृषि उत्पादन बढ़ाने, मूल्य संवर्द्धन और उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने के लिए व्यापक प्रयास करते हुए प्रदेशवासियों के जीवन स्तर को आगे बढ़ा रहे हैं।

 Farmers were committing suicide due to neglect of previous governments

इस मौके पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला और सीएम योगी ने प्रदेश के चयनित 11 कृषक उत्पादक संगठनों को 18 लाख के डमी चेक एवं कस्टम हायरिंग सेंटर के 10 लाभार्थियों को प्रतीकात्मक चाबी भेंट की। कार्यक्रम के अंत में सीएम योगी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला को स्मृति चिन्ह भेंट किया। 

यह भी पढ़ें- 

निर्भया केस: राष्ट्रपति ने दोषी मुकेश की दया याचिका को किया खारिज

राष्ट्रपति के पास पहुंची दया याचिका, निर्भया के माता-पिता ने केजरीवाल सरकार को ठहराया जिम्मेदार

दिल्ली चुनाव : जीत के लिए कांग्रेस ने प्रियंका पर खेला बड़ा दांव, विरोधियों में मचा हड़कंप

लखनऊ: पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय की टीम तैयार, इन अफसरों को सौंपी जिम्मेदारी

Web Title: Farmers were committing suicide due to neglect of previous governments ( Hindi News From Newstimes)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया