RSS प्रमुख बोले- CAA पर पीछे हटने की जरूरत नहीं, यह कानून देशहित में


NP1509 17/01/2020 14:32:32
42 Views

Moradabad. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ लगातार हो रहे विरोध के बीच आरएसएस प्रमुख (RSS Chief) मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) का इस मुद्दे पर बड़ा बयान सामने आया है। भागवत ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के मुद्दे पर पीछे हटने की कोई जरूरत नहीं है और न ही विरोध से चिंतित होने की जरूरत है,  क्योंकि सभी जानते हैं कि यह कानून देशहित में है। आरएसएस प्रमुख का यह बयान यूपी के मुरादाबाद (Moradabad) में संघ के कार्यक्रम के दौरान सामने आया। 

17-01-2020144440MohanBhagwat1

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुवार को मुरादाबाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Moradabad Institute of Technology) में लगी शाखा में आरएसएस प्रमुख (RSS Chief) मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) शामिल हुए। इस कार्यक्रम आरएसएस के क्षेत्रीय कार्यकारिणी के चुनिंदा 40 पदाधिकारी मौजूद थे। इस दौरान जिज्ञासा और समाधान सत्र में स्वयं सेवकों के सवालों का बेबाकी से जवाब दिया। 

सीएए (CAA) पर पूछे गए सवाल पर संघ प्रमुख ने कहा कि सीएए (CAA) को लेकर देश में कुछ लोग भ्रम की स्थिति पैदा कर रहे हैं, हम सभी की जिम्मेदारी है कि इस भ्रम को दूर किया जाए। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि सेमिनार, गोष्ठी और बैठकों के जरिए नागरिकता संशोधन कानून पर लोगों के भ्रम दूर करें। 

राम मंदिर पर भूमिका सीमित

संघ के जिज्ञासा और समाधान सत्र में एक स्वयं सेवक ने काशी (Kashi) और मथुरा (Mathura) में संघ की भूमिका को लेकर सवाल किया। इस पर आरएसएस प्रमुख ने साफ इंकार करते हुए कहा कि फिलहाल संघ के एजेंडे में काशी और मथुरा मुद्दा नहीं है। साथ ही राम मंदिर (Ram Mandir) पर कहा कि संघ की भूमिका इस प्रकरण में सिर्फ ट्रस्ट निर्माण होने तक है। इसके बाद संघ खुद को इससे अलग कर लेगा।

यह भी पढ़ें:-...दिल्ली चुनाव : जीत के लिए कांग्रेस ने प्रियंका पर खेला बड़ा दांव, विरोधियों में मचा हड़कंप

Web Title: Mohan Bhagwat said that CAA law in the interest of the country ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया