अपराधों पर अंकुश के लिए ग्रामीण क्षेत्र में भी नये थानों की आवश्यकता


NP1181 19/01/2020 14:08:05
37 Views

LUCKNOW.  बढ़ते अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए यदि सरकार राजधानी के शहरी क्षेत्र में आयुक्त प्रणाली लागू कर सकती है और उसके लिए नये थानों का प्रस्ताव भी लाया जा सकता है तो राजधानी के ग्रामीण क्षेत्र में अपराधों पर अंकुश लगाने के​ लिए थानों और चौकियों की संख्या क्यों नहीं बढ़ाई जा रही है। पिछले करीब दो दशक पहले मलिहाबाद कोतवाली की रहीमाबाद चौकी को थाना बनाने की मांग शुरू हुई थी। उसके बाद कई बार अधिकारियों ने रहीमाबाद को थाना बनाने की घोषणा भी की लेकिन आज तक यह मूर्तरूप नहीं ले सका। प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब 53 साल पहले 1966 में मलिहाबाद और इटौंजा थाने का दायरा कम करके माल की चौकी को थाना बनाया गया था।

19-01-2020152829Needfornewp1

रहीमाबाद में थाना बनाने की घोषणा कागजों तक सीमित
उसके बाद कई गुना आबादी बढ़ने के साथ अपराधों में भी बढ़ोत्तरी होती चली आ रही है फिर भी यहां 30 साल में एक भी चौकी नहीं बनी। मलिहाबाद थाने से संडीला की सीमा 19 किमी0 है इसी के बीच में रहीमाबाद चौकी पड़ती है। रहीमाबाद चौकी और माल थाने की सीमा उन्नाव, हरदोई से जुड़ी हुई है​ जिससे अपराधी अपराध करके अपने जिले की सीमा में चले जाते हैं। जनपद की सीमा पार करने के बाद उनको पकड़ने के लिए कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 

19-01-2020152507Needfornewp
मलिहाबाद कोतवाली क्षेत्र में नयी चौकी कसमंडी कला, भतोइया और ढेढेमऊ​ में बनाने की जरूरत है। इसी प्रकार माल थाने के ग्राम     गहदौं, सैदापुर, बरगदिया, गोपरामऊ में चौकी बनाने की आवश्यकता है। यह चौकियां बनने से जनता की सुरक्षा और अपराध होने पर कम समय में पुलिस मौके पर पहुंच जाएगी जिससे अपराध रोकने में आसानी होगी। इनमें से सभी स्थानों की दूरी 6 से 10 किमी0  के बीच है।

 

Web Title: Need for new police stations in rural areas to curb crimes ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया