शहीद धर्मेंद्र सिंह को नम आंखों से दी अंतिम विदाई


NP1509 19/01/2020 16:48:34
123 Views

Kanpur. कारगिल (Kargil) के मशकोह वैली (Mashkoh Valley) में हिमस्खलन (Avalanche) के दौरान शहीद हवलदार (Shaheed Havildar) धर्मेंद्र सिंह (Dharmendra Singh) को रविवार की दोपहर हजारों की भीड़ ने सैन्य सलामी (Military Salute) के बाद नम आंखों से अंतिम विदाई दी। शहीद की अंतिम यात्रा में हजारों लोगों की भीड़ मौजूद रही। यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) कमलरानी वरुण (Kamalrani Varun) भी शहीद को श्रद्धासुमन अर्पित करने के लिए पहुंची। इससे पहले जब शहीद का पार्थिव शरीर (Dead Body) उनके पैतृक आवास पर पहुंचा तो कोहराम मच गया।

19-01-2020170928Lastfarewell1

कानपुर (Kanpur) के घाटमपुर थाना एरिया (Ghatampur Police Station Area) स्थित पतारा के बिराहिनपुर गांव निवासी धर्मेंद्र सिंह (Dharmendra Singh) हवलदार के पद पर तैनात थे। उनकी वर्तमान में तैनाती कारगिल (Kargil) में थी। परिजनों के मुताबिक, गुरुवार को द्रास सेक्टर के मशकोह वैली स्थित सेना की चौकी हिमस्खलन (Avalanche) की चपेट में आ गई थी। धर्मेंद्र सिंह इस आपदा में शहीद हो गए।

शनिवार को शहीद धर्मेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर (Dead Body) श्रीनगर से नई दिल्ली लाया गया। रविवार की सुबह सेना की एंबुलेंस से पार्थिव शरीर पैतृक गांव पहुंचा तो कोहराम मच गया। शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए जिला प्रशासन ने एक दिन पहले ही तैयारियां कर ली थीं। धर्मेंद्र सिंह (Dharmendra Singh) का पार्थिव शरीर जब सेना के जवान गांव लेकर पहुंचे तो उस समय आसपास के गांवों से हजारों की संख्या में ग्रामीण पहुंच चुके थे।

कलेजे के टुकड़े का पार्थिव शरीर देख परिवार के सदस्यों की आंखों से आंसुओं का सैलाब बह पड़ा। हजारों की भीड़ भारत माता की जय का उद्घोष करने लगी। जब तक सूरज-चांद रहेगा, धर्मेंद्र तेरा नाम रहेगा, आदि नारों के बीच पार्थिव शरीर को सैन्य सलामी दी गई। यूपी सरकार में प्रावधिक शिक्षा मंत्री कमलरानी भी शहीद के घर पहुंची। उन्होंने पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। कमलरानी वरुण घाटमपुर विधानसभा (Ghatampur Legislative Assembly) से विधायक भी हैं। शहीद का गांव भी इसी विधान सभा के अंतर्गत आतचा है।

लेफ्टिनेंट कर्नल (Lieutenant Colonel) जी सोमू महाराजन (G. Somu Maharajan) के नेतृत्व वाली सेना की टोली 11 बजे कंधा देकर पार्थिव शरीर 200 मीटर दूर केवडिया मार्ग स्थित अंत्येष्टि स्थल पर ले गए। मंत्री कमलरानी, एसडीएम वरुण पांडेय, सीओ रवि कुमार सिंह, तहसीलदार विजय यादव आदि ने पुष्पचक्र अर्पित किए। इसके बाद सैनिक सम्मान के बीच बड़े पुत्र उत्कर्ष ने शहीद पिता की चिता को मुखाग्नि दी।

यह भी पढ़ें:-... अय्याशी का लालच देकर क्रेडिट कार्ड एजेंट को उतारा था मौत के घाट, तीन गिरफ्तार

Web Title: Last farewell to martyr Dharmendra Singh with moist eyes in Kanpur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया