बसपा, कांग्रेस और भाजपा को बड़ा झटका देने की तैयारी में अखिलेश यादव, पार्टी में किया ये बड़ा बदलाव! 


NP1357 20/01/2020 11:20:25
438 Views

Lucknow. उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए भले ही दो साल का समय बचा हो, लेकिन सभी राजनीतिक खिलाड़ी अभी से ही फील्डिंग करना शुरू कर दिए हैं। कांग्रेस (Congress) म‍हासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi Vadra) पार्टी को मजबूत करने के लिए लगातार बैठकें कर रहीं हैं। वहीं, समाजवादी पार्टी (Samajwadi) के नेता अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) भी सक्रिय हो गए हैं। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने चुनाव से पहले एक बड़ा बदलाव किया, जिससे बसपा (BSP), कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) को बड़ा नुकसान हो सकता है।

20-01-2020113021AkhileshYadav1

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले ही रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है। अब समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने डॉ. राम मनोहर लोहिया के साथ भीमराव अम्‍बेडकर की फोटो भी लगानी शुरू कर दी है। यह पहली बार है, जब समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) दोनों महापुरुषों को एक साथ ले आई है। इसके पीछे कई राजनीतिक कारण भी माने जा रहे हैं। 

गठबंधन से सपा को हुआ नुकसान

माना जा रहा है कि चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने इशारा कर दिया है कि बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) से असंतुष्‍ट या निकाले जाने वाले नेताओं के लिए नया ठिकाना कांग्रेस (Congress), भाजपा (BJP) नहीं, बल्कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ही है। राजनीतिक विश्‍लेषकों का मानना है कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने बीते लोकसभा चुनावों में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) के साथ गठबंधन करके नुकसान ही उठाया था, ऐसे में सपा के लिए बसपा (BSP) से गठबंधन करना एक आत्‍मघाती कदम माना जा रहा था। 

20-01-2020113200AkhileshYadav4

अखिलेश यादव भी दलितों के नेता

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की तुलना में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) को दोगुनी सीटें मिलीं थी, जो बसपा (BSP) के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं था। इस चुनाव के बाद से ही अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) लगातार पार्टी को मजबूत कर रहे हैं। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में राम मनोहर लोहिया के साथ डॉ भीमराव अम्‍बेडकर का फोटो यह बताने की कोशिश है कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) दलितों के भी नेता हो सकते हैं। 

20-01-2020113142AkhileshYadav3

बसपा को हो सकता है नुकसान

बता दें कि अखिलेश यादव (Akhikesh yadav) लगातार दलितों और मुस्लिमों के बीच अपनी उपस्थिति बना रहे हैं। उन्‍होंने दलित से जुड़े कई चेहरों को भी मंच पर जगह दी है। अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) लगातार समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में बदलाव कर रहे हैं, कई पदों पर दलित नेताओं को भी बिठा रहे हैं। आगामी चुनावों में अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) की चुनावी रणनीति के आगे बसपा (BSP) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) कमजोर नजर आ सकती है, हालांकि ये देखना होगा कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) दलितों को लुभाने में कितना कामयाब हो पाएंगे।

यह भी पढ़ें- 

Delhi Assembly Elections: इन दिग्गजों का नामांकन आज, इस सीट से सीएम केजरीवाल भरेंगे पर्चा

आज लगेगी मोदी सर की क्लास, छात्रों को सिखाएंगे तनाव मुक्त रहने के गुर

बीजेपी अध्यक्ष का विवादित बयान, बोले- 50 लाख मुस्लिमों को करेंगे बाहर, नुकसान करने वालों का इलाज...

Web Title: Akhilesh Yadav prepares to give a big blow to BSP, Congress and BJP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया