निर्भया केस : सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की स्पेशल लीव पिटीशन


NP1509 20/01/2020 15:19 PM
35 Views

New Delhi. निर्भया केस (Nirbhaya Gangrape Case) के दोषियों में से एक पवन गुप्ता (Pawan Gupta) की स्पेशल लीव पिटीशन (SLP) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सोमवार को सुनवाई हुई। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पिटीशन में कोई नया आधार न पाते हुए इसे खारिज कर दिया। दोषी पवन ने अपनी याचिका में दावा किया था कि जिस वक्त वारदात हुई थी, उस वक्त वह नाबालिग था और दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) इस तथ्य की अनदेखी कर रहा है। 

Supreme Court dismisses Pawan

वहीं, दोषी पवन की याचिका खारिज होने पर निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि फांसी में देरी करने की उनकी रणनीति को खारिज कर दिया गया है। मुझे तभी संतुष्टि मिलेगी जब वे एक फरवरी को फांसी पर लटकेंगे। जिस तरह से वह एक के बाद एक देरी करवा रहे हैं, उन्हें एक-एक करके फांसी पर लटका देना चाहिए जिससे वह समझ जायें कि कानून से खिलवाड़ करने का क्या अंजाम होता है। 

बता दें कि इससे पहले दोषी पवन गुप्ता ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में याचिका दायर कर वारदात के समय (16 दिसंबर 2012 को) नाबालिग होने का दावा किया था। पवन के वकील ने दलील दी थी कि वारदात के वक्त पवन गुप्ता नाबालिग था, इसलिए उसे फांसी नहीं दी जा सकती। इस पर हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए पवन के वकील एपी सिंह पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था। 

दोषी पवन के पास बचा अब ये रास्ता

16 दिसंबर 2012 को हुए गैंगरेप और हत्या के मामले में कोर्ट ने दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है। डेथ वारंट (Death warrant) के मुताबिक दोषियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी। वहीं, सुप्रीम कोर्ट से स्पेशल लीव पिटीशन खारिज होने के बाद पवन गुप्ता के पास क्यूरेटिव पिटिशन और राष्ट्रपति के पास अपनी दया याचिका भेजने का विकल्प होगा।

इससे पहले इस केस में एक अन्य आरोपी मुकेश सिंह की दया याचिका राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर चुके हैं। जबकि अक्षय, पवन और विनय के पास राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास दया याचिका दाखिल करने का संवैधानिक विकल्प बचा है।

यह भी पढ़ें:-...कभी चीन के खिलाफ युद्ध में जवानों का दिया था साथ, अब गणतंत्र दिवस पर दी जाएगी विदाई!

Web Title: Supreme Court dismisses Pawan's special leave petition in Nirbhaya gangrape murder case ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया