पाकिस्तान और अमेरिका भी धर्मशासित देश, केवल हम ही धर्मनिरपेक्ष : राजनाथ सिंह


NAZO ALI SHEIKH 22/01/2020 17:34:28
34 Views

New Delhi. विपक्षी पार्टियां नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर सत्ता पर काबिज बीजेपी सरकार पर धार्मिक भेदभाव (Religious Discrimination) का आरोप लगा रही हैं। इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh)ने कहा है कि भारतीय मूल्यों में सभी धर्मों को एक समान माना जाता है। और इसी कारण हमारा देश धर्मनिरपेक्ष है और यह पाकिस्तान (Pakistan) की तरह धर्मशासित देश कभी नहीं बना। 

22-01-2020174005PakistanandA1

राजनाथ सिंह के बयान पर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवेसी ने (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) ट्वीट कर कहा कि आपकी सरकार भारत को धर्मशासित देश बनाना चाहती है। उन्होंने CAA का भी जिक्र किया।

दिल्ली में एनसीसी के गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित शिविर में रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘हम (भारत) कहते हैं कि हम धर्मों के बीच भेदभाव नहीं करेंगे तो हम ऐसा क्यों करेंगे? हमारा पड़ोसी देश तो यह एलान कर चुका है कि उनका एक धर्म है। उन्होंने खुद को धर्मशासित देश घोषित किया है. हमने ऐसी घोषणा नहीं की है।’’

22-01-2020174021PakistanandA2

राजनाथ सिंह ने कहा, ‘‘यहां तक कि अमेरिका भी धर्मशासित देश है। भारत एक धर्मशासित देश नहीं है। क्यों? क्योंकि हमारे साधु-संतों ने न केवल हमारी सीमाओं के भीतर रहने वाले लोगों को अपने परिवार का हिस्सा माना बल्कि पूरी दुनिया में रहने वाले लोगों को उन्होंने एक परिवार बताया।’’

यह भी पढ़ें... दिल्ली चुनाव : कांग्रेस के ये नेता होंगे स्टार प्रचारक, देखें पूरी लिस्ट

राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत ने कभी भी यह घोषणा नहीं की कि उसका धर्म हिंदू, सिख या बौद्ध होगा। उन्होंने कहा कि सभी धर्मों के लोग यहां रह सकते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘उन्होंने ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की उक्ति दी जिसका मतलब है कि पूरा विश्व एक परिवार है. पूरे विश्व में यह संदेश यहां से ही गया।’’

Web Title: Pakistan and America are also religious countries, only we are secular: Rajnath Singh ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया