केंद्र सरकार ने एयर इंडिया की बिक्री को दी हरी झंडी, 17 मार्च तक लगेगी बोली


NP1534 27/01/2020 11:15:50
47 Views

. 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी सरकार
. बढ़ते कर्ज को देखते हुए सरकार ने उठाया कदम

New Delhi. केंद्र की मोदी सरकार ने एअर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए प्रारंभिक जानकारी वाला मेमोरेंडम सोमवार को जारी कर दिया है। इसके साथ देश की सबसे बड़ी उड्डयन कंपनी की बिक्री को लेकर लगाई जा रही अटकलों की धुंध छंट गयी हैं। मालूम हो कि बड़े पैमाने पर इस बिक्री का विरोध चल रहा था बावजूद इसके सरकार अपने फैसले पर अटल हैं।  

27-01-2020112025Centralgovern1
 

केंद्र सरकार के मेमोरेंडम के मुताबिक एयर इंडिया (AI) में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचने के लिए सरकार ने निविदा आमंत्रित की है। बोली लगाने की अंतिम तारीख 17 मार्च 2020 तय की गयी है। इसके साथ ही सरकार ने सब्सिडियरी कंपनी एअर इंडिया एक्सप्रेस और एयरपोर्ट सर्विस कंपनी AISATS को भी बेचने के लिए बोलियां मांगी है।

Air India Express से अपनी पूरी हिस्सेदारी सरकार बेंच रही है जबकि सब्सिडियरी कंपनी एयरपोर्ट सर्विस कंपनी (AISATS) में अपना 50 फीसद हिस्सा सरकार बेचेगी। गौरतलब हो कि GOM की बैठक में एक्सप्रेशन आफ इंटरेस्ट के ड्राफ्ट को मंजूरी देते हुए इसे माह के अंत तक जारी करने की बात कही गयी थी। 
बता दें कि इस बैठक से पहले नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा ​था कि एयर इंडिया पर बढ़ते कर्ज को सरकार अब जारी नहीं रख सकती है। जल्द ही इसका निजीकरण किया जाएगा। 
बता दें कि वर्तमान में एयर इंडिया पर कर्ज 80 हजार करोड़ के पार पहुंच चुका है। बीते वर्ष एयर इंडिया प्रतिदिन तकरीबन 25 करोड़ का नुकसान उठा रही थी। केंद्र की मोदी सरकार अपने पहले कार्यकाल में भी एयर इंडिया के निजीकरण का मन बना चुकी थी हलांकि उस समय कोई खरीददार सामने नहीं आया था। 

 

यह भी पढ़ें...जयपुर में सामने आया Coronovirus का पहला मरीज, चीन में अब तक 80 की मौत

 

 

Web Title: Central government gives a green signal to the sale of Air India, will bid till March 17 ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया