असम में मोदी सरकार को मिली बड़ी कामयाबी, 50 साल पुराने बोडोलैंड विवाद को किया खत्म


NP1509 27/01/2020 17:54 PM
37 Views

New Delhi. पूर्वोत्तर के राज्यों में उग्रवाद को खात्मा करने का वादा करके सत्ता में वापस लौटी मोदी सरकार को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सरकार ने असम में पिछले 50 साल से चल रहे बोडोलैंड विवाद को सुलझा दिया है। इसके तहत केंद्र सरकार, असम सरकार और बोडो उग्रवादियों के प्रतिनिधियों ने असम समझौता 2020 पर हस्‍ताक्षर किया है। इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। 

27-01-2020175251Modigovernmen1

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, असम समझौता 2020 के मौके पर गृह मंत्री ने ऐलान किया कि उग्रवादी गुट नैशनल डेमोक्रैटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड के 1550 कैडर 30 जनवरी को अपने 130 हथियार सौंप देंगे और आत्‍मसमर्पण कर देंगे। उन्होंने कहा कि इस समझौते के बाद अब असम और बोडो के लोगों का स्‍वर्णिम भविष्‍य सुनिश्चित होगा। 

गृहमंत्री ने आश्‍वासन दिया कि केंद्र सरकार बोडो लोगों से किए गए अपने सभी वादों को समयबद्ध तरीके से पूरा करेगी। उन्‍होंने कहा कि इस समझौते के बाद अब कोई अलग राज्‍य नहीं बनाया जाएगा।

बता दें कि असम के करीब 50 साल से चले आ रहे बोडोलैंड विवाद में अब तक 2823 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। पिछले 27 साल में यह तीसरा 'असम समझौता' है। बोडो असम का सबसे बड़ा आदिवासी समुदाय है जो राज्‍य की कुल जनसंख्‍या का 5 से 6 प्रतिशत है। यही नहीं लंबे समय तक असम के बड़े हिस्‍से पर बोडो आदिवासियों का नियंत्रण रहा है।

यह भी पढ़ें:-...शरजील के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- ऐसे बयान बर्दाश्त करने लायक नहीं

Web Title: Modi government settled Assam s Bodoland dispute ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया