कांग्रेस का आरोप, भ्रष्‍ट अधिकारियों को संरक्षण दे रही योगी सरकार


NP1181 31/01/2020 14:58:27
36 Views

LUCKNOW. पंचायती राज विभाग में परफार्मेन्स ग्रान्ट में हुई अनियमितता एवं घोटाले के जरिए जनता की गाढ़ी कमाई भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गयी। प्रदेश सरकार एवं उनके चहेते अधिकारियों की मिलीभगत से अपात्र ग्राम पंचायतों को भी सम्मिलित करते हुए लगभग 700 करोड़ रूपये निर्गत कर भ्रष्टाचार किया गया। बताते चलें कि केन्द्र सरकार द्वारा तय मानकों के अन्तर्गत अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में बेहतर प्रदर्शन एवं निश्चित आय करने वाली ग्राम पंचायतों को उनके विकास के लिए अतिरिक्त धन आवंटित किया जाता है। यह आरोप उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने लगाया है।

Congress will fight from street to house against the scandal in public

आरोपी अधिकारियों को संरक्षण दे रहे मुख्यमंत्री

कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री लल्लू ने आरोप लगाते हुए कहा कि वर्ष 2017 में तत्कालीन पंचायती राज निदेशक विजय किरन आनन्द ने राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन द्वारा की गयी अनियमितता की शिकायत एवं चल रही जांच के दौरान ही दाेबारा लगभग 394 करोड़ रूपये परफार्मेन्स ग्रान्ट जारी कर इस सरकार में भ्रष्टाचार का खुला खेल होने का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि आनन्द मुख्यमंत्री के चहेते अधिकारियों में शामिल हैं और कुम्भ मेले के आयोजन की जिम्मेदारी भी इन पर थी और उसमें भी करोड़ों रूपये के व्यापक भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे। विजिलेन्स की जांच में कुछ अधिकारियों पर मुकदमे दर्ज किए गए किन्तु विजय किरन आनन्द पर मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया गया?

31-01-2020155531Congresswill2

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन द्वारा की शिकायत के आधार पर कहा कि चौदहवें वित्त आयोग के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों को मिलने वाली परफार्मेन्स ग्रान्ट की लगभग 700 करोड़ रूपये की धनराशि बिना प्रचार-प्रसार के और ग्राम पंचायतों से प्रस्ताव मांगे बगैर अपात्र ग्राम पंचायतों को भी हस्तानान्तरित कर दिये गये तथा 60 हजार पंचायतों में से लगभग 1700 पंचायतों में यह धनराशि वितरित की गयी।

हास्यास्पद यह है कि जिन निदेशक पंचायती राज एवं उप निदेशक पंचायती राज के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाये जा रहे थे शासन ने उन्हीं को जांच की जिम्मेदारी सौंपी। इन्होंने आनन-फानन में पन्द्रह दिन में जांच करा भ्रष्टाचार को ढकने की कोशिश की। कैग की रिपोर्ट में भी अनियमितता उजागर हुई और मात्र 56 ग्राम पंचायतों में ही कार्य की बात कही गयी।

चहेताें को बचा रही सरकार

इसके बाद सरकार ने भ्रष्टाचार को छिपाने एवं चहेते अधिकारियों को बचाने के लिए लीपापोती शुरू कर दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस बात का जवाब प्रदेश की जनता को देना चाहिए कि जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने वाले ऐसे अधिकारियों को संरक्षण कौन दे रहा है?

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री लल्लू ने कहा कि बगैर सरकार के संरक्षण के इतने बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार नहीं हो सकता। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही सुनिश्चित नहीं की गयी तो कांग्रेस पार्टी सड़क से लेकर सदन तक पुरजोर तरीके से लड़ेगी, किसी भी स्तर पर जनता की गाढ़ी कमाई लुटने नहीं दी जाएगी।

 

 

Web Title: Congress will fight from street to house against the scandal in public's hard earned money- Ajay Kumar Lallu ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया