ऑपरेशन मासूम : एनकाउंटर में मारे गए सुभाष की बेटी को गोद लेंगे IPS मोहित अग्रवाल


NP1509 02/02/2020 17:03:40
72 Views

Farrukhabad. पिछले दिनों फर्रुखाबाद में एक सिरफिरे सुभाष बाथम ने 23 बच्चों को मकान में बंधक बना लिया था, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को एनकाउंटर में मार गिराया था। वहीं, बाद में ग्रामीणों ने उसकी पत्नी रूबी को जमकर पीटा था जिसकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। दोनों की मौत के बाद उनकी चार साल की बेटी गौरी अनाथ हो गयी थी, कानपुर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने गोद लेने का फैसला किया है। 

02-02-2020171348FarrukhabadOp1

बता दें कि मोहम्मदाबाद इलाके के करथिया गांव में रहने वाले आरोपी सुभाष बाथम ने गुरुवार की दोपहर 23 बच्चों को जन्मदिन के बहाने अपने घर पर बुलाया और थोड़ी देर बाद सभी को एक कमरे में बंधक बना लिया। वहीं, दोपहर करीब 3 बजे जब ग्रामीणों ने बच्चों को छुड़ाने का प्रयास किया तो आरोपी ने उन्हें डरा-धमकाकर वहां से भगा दिया। इस दौरान उसने बच्चों को छुड़ाने गए एक ग्रामीण को गोली मार दी, जिसके बाद उस घायल व्यक्ति को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। 

इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद स्थानीय पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार मिश्रा और तमाम वरिष्ठ अधिकारी व पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे और बच्चों व महिलाओं को सुरक्षित निकालने की कोशिश में जुट गए। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान सिरफिरे व्यक्ति ने पुलिस पर फायरिंग भी की। इसके बाद पुलिस की जवाबी कार्रवाई में रात के करीब 1 बजे आरोपी ढेर हो गया और सभी 23 बच्चों को सुरक्षित बचा लिया गया। 

वहीं, सुभाष के मारे जाने के बाद उसकी पत्नी रूबी ने भागने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और पीट-पीटकर उसे अधमरा कर दिया। वहीं, मौके पर मौजूद पुलिस ने किसी तरह ग्रामीणों से उसे छुड़ाकर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पर उसकी मौत हो गयी। सुभाष और रूबी के मारे जाने के बाद उनकी एक साल की बेटी गौरी की महिला कांस्टेबल सीमा की देखरेख कर रहीं थीं। 

यह भी पढ़ें:-...फर्रुखाबाद : 23 बच्चों को बंधक बनाने वाले सिरफिरे की चिट्ठी वायरल, ये थी दो मांगें...

Web Title: Farrukhabad Operation Masoom IPS Mohit Aggarwal will adopt Subhash's son who was killed in an encounter ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया