माफियाओं पर सख्ती के दावे खोखले, बेखौफ होकर जारी अवैध खनन


D. K. SHUKLA 03/02/2020 09:20:04
44 Views

.  औरास थाने से महल 1 किलोमीटर दूर पर चल रहा खनन
Unnao. मिट्टी के अवैध पर अंकुश लगाने के सरकारी दावे हवा हवाई साबित हो रहे है। पुलिस और राजस्व कर्मियों की मिलीभगत से धरती मां की कोख को छलनी करने का गोरखधंधा पूरे सबाब पर है। औरास थाने से महज 1 किलोमीटर की दूरी पर रात के अंधेरे में धड़ल्ले से अवैध खनन हो रहा है। 

03-02-2020095231Claimsofstri1
 

औरास सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आगे रात के अंधेरे में अवैध खनन धड़ल्ले से जारी है। इस खनन में जेसीबी मशीनों और तकरीबन आधा दर्जन ट्रालियों के जरिए खनन कर मिटृी की सप्लाई की जा रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 800 रुपए प्रति ट्राली की दर से मिट्टी का यह अवैध कारोबार कस्बे में खूब फल फूल रहा है। थाने से महज एक किलोमीटर की दूरी पर चल रहे इस अवैध कारोबार की भनक पुलिस को न हो यह बात हजम नहीं होती। सूत्र बताते है कि ठेकेदारों का रैकेट पुलिस और राजस्व कर्मियों की मिली भगत से यह अवैध करोबार कर रहा है जिसके एवज में सभी की जेबे अवैध कमाई से भरी जा रही है। गौरतलब हो कि सूबे की योगी सरकार का दावा है कि प्रदेश में अवैध खनन का कारोबार कहीं नहीं हो रहा है।

सरकार ने इस अवैध करोबार पर नकेल कसने के लिए पुलिस और प्रशासनिक अमले को पूरी छूट दे रखी है लेकिन जब इस काम से जेबे गरम हो रही है तो फिर कार्रवाई कर अपना नुकसान कौन करें। नतीजे में इस अवैध कारोबार से जूड़े लोग बेखौफ होकर धरती मां की कोख खाली करने में जुटे हैं। 
थाना क्षेत्र के गांव नदौली में तकरीबन पिछले एक सप्ताह से अवैध खनन का कारोबार चल रहा है। ठेकेदारों द्वारा खोदी गई मिट्टी से खनन स्थल तालाब में तब्दील हो चुका है। जिससे एक ओर जहां सरकार को खनन के नाम पर मिलने वाले राजस्व की हानि तो हो रही है वहीं दूसरी ओर खनन में प्रयुक्त होने वाली गाड़ियों से हाल के दिनों में डामरीकृत हुआ मार्ग भी जर्जर हो चला है। इस लिहाल से देखा जाए तो इस अवैध कारोबार से सरकार को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। बावजूद इसके सरकारी नुमाइंदे सब कुछ देख कर भी अनदेखा कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें...अयोध्या के 'रामलला' से कमतर नहीं है उन्नाव के 'रामलीला' मैदान का विवाद

 

 

Web Title: Claims of strictness on mafia are hollow, fearless illegal mining continues ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया