नियमों को ताख पर रखकर बनाए जा रहे अधूरे पड़े शौचालयों का हो गया लोकार्पण


NP1181 19/02/2020 17:24:14
189 Views

LUCKNOW.  एक साल बाद भी विधायक निधि से बनने वाले शौचालय अधूरे पड़े हैं और उनमें विधायक के नाम का पत्थर लगाकर शौचालय निर्मित दिखा दिए गए। यही नहीं विधायक निधि से बनने वाले शौचालयों में एक ही सोख्ता गड्ढा बनाया गया है जबकि दो गड्ढे बनाने का प्राविधान है। जिले के अधीक्षण अभियन्ता को इसकी अभी तक कोई जानकारी नहीं है क्योंकि उन्होंने कहा कि वह क्रॉस चेक करने के बाद ही कोई जानकारी दे सकते हैं।

19-02-2020182215Incompletetoi1

एक ही सोख्ता गड्ढा बनाकर शौचालयों में की जा रही लीपा पोती 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मलिहाबाद क्षेत्र की विधायक जयदेवी कौशल ने गत वित्तीय वर्ष में क्षेत्र के 27 निजी विद्यालयों को शौचालय के लिए स्वीकृति प्रदान की थी जिसकी लागत एक लाख 25 हजार रुपये प्रत्येक शौचालय थी। वित्तीय वर्ष 2018—19 में बनने वाले इन शौचालयों का काम इस वित्तीय वर्ष में भी अधूरा है। यही नहीं इनमें अभी तक किसी को पूरी तरह कम्पलीट नहीं किया गया है। किसी में सीट नहीं है, तो किसी में गड्ढा अधूरा पड़ा है वह भी एक ही बनाकर छोड़ दिया गया है। कई में तो दरवाजा लगाकर छोड़ दिया गया है। रंगाई पुताई की बात कौन करे अभी तो काम  हीअधूरा पड़ा है। 

19-02-2020182302Incompletetoi2

एक साल बाद भी अधूरे पड़े शौचालयों की अधीक्षण अभियन्ता को जानकारी नहीं
विकास खण्ड माल, मलिहाबाद, काकोरी के दो दर्जन से अधिक स्कूलों में इनका निर्माण किया गया है। एक प्रबन्धक ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि शौचालयों में प्रयोग की गई सामग्री भी घटिया है। वह इतनी ही लागत में इससे अच्छा शौचालय बनाकर तैयार कर देते। इस सम्बन्ध में जानकारी करने पर अधीक्षण अभियन्ता ब्रजेश दुबे ने कहा कि वह जानकारी करने के बाद ही कुछ बता पाएंगे। सीडीओ मनीष बंसल ने कहा कि वह इसकी जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

 

 

Web Title: Incomplete toilets being built by keeping rules on hand, inaugurated ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया