दिल्ली हिंसा: शिवसेना ने पूछा, जब 37 लोग दिल्ली में मारे गए तब गृहमंत्री अमित शाह कहां थे?


Raghvendra Chaurasia 28/02/2020 14:19:04
29 Views

मुंबई.दिल्ली हिंसा के बाद विपक्षी दल केंद्र सरकार पर तीखा हमला कर सवाल पूछ रहे हैं। शिवसेना ने सामना के जरिए केंद्र सरकार से कुछ सवाल पूछे हैं। शिवसेना ने पूछा कि जब दिल्ली में 37 लोग मारे गए तब गृहमंत्री अमित शाह कहां थे? वहीं पीएम मोदी के तीन दिन बाद शांति के अपील पर भी शिवसेना ने हमला किया है। शिवसेना का कहना है कि देश की राजधानी दिल्ली में 37 लोग मारे गए उनमें पुलिसकर्मी भी हैं तथा केंद्र का आधा मंत्रिमंडल उस समय अहमदाबाद में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को सिर्फ नमस्ते,नमस्ते साहेब कहने के लिए गया था।

28-02-2020142406DelhiViolence1

केंद्र कांग्रेस में होती तो भाजपा आक्रामक रूप से विरोध पर करती

सामना में आगे लिखा है कि यदि केंद्र में कांग्रेस अथवा दूसरे गठबंधन की सरकार होती तथा विरोधी सीट पर बीजेपी का महामंडल होता तो दंगों के लिए गृहमंत्री का इस्तीफा मांगा गया होता। तब बीजेपी गृहमंत्री के इस्तीफ के लिए दिल्ली सहित पूरे देश में मोर्चा व घेराव का आयोजन करती। राष्ट्रपति भवन पर धावा बोला गया होता। बीजेपी की तरफ से गृहमंत्री को नाकाम ठहराकर इस्तीफा चाहिए ऐसी मांग की गई होती,मगर अब ऐसा नहीं बीजेपी सत्ता में है और विपक्ष कमाजेर है फिर भी सोनिया गांधी ने अमित शाह का इस्तीफा मांगा है।

दंगे के चौथे दिन अजित डोभाल सड़क पर उतरे

सामना में आगे पूछा गया कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अहमदाबाद में थे,उसी समय गृहविभाग के एक गुप्तचर अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या दंगों में हो गई। लगभग तीन दिनों बाद पीएम मोदी ने शांति बनाए रखने का आहान किया। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल चौथे दिन अपने सहयोगियों के साथ दिल्ली की सड़कों पर लोगों से बात करते दिखे,इससे क्या होगा,जो होना था वो नुकसान पहले ही हो चुका है। 

28-02-2020142420DelhiViolence2

सवाल ये है कि इस दौर में गृहमंत्री का दर्शन क्यों नहीं हुआ?

गृहमंत्री पर सवाल उठाते हुए पार्टी ने कहा कि सवाल ये है कि इस दौर में हमारे गृहमंत्री का दर्शन क्यों नहीं हुआ, देश को मजबूत गृहमंत्री मिला है लेकिन वे दिखे नहीं। इस पर हैरानी होती है कि विधानसभा चुनाव में शह गृहमंत्री होते हुए भी घर-घर जाकर प्रचार का पर्चा बांटते घूम रहे थे तथा इस प्रचार कार्य के लिए उन्होंने भरपूर समय निकाला। परंतु जब पूरी दिल्ली हिंसा की आग में जल रही थी तब यही गृहमंत्री कहीं दिखाई नहीं दिए और इस पर विपक्ष संसद में अधिवेशन में हंगामा कर सकता है। विपक्ष ने दिल्ली में दंगों का सवाल उठाया तो उन सभी को देशद्रोही ठहराया जाएगा।
 

 

 

Web Title: Delhi Violence: Shiv Sena asked where was Home Minister Amish Shah when 37 people died in Delhi? ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया