जानिए, क्याें अशुभ है होलाष्टक? कब से शुरू हो रहे हैं यह अशुभ दिन


VAMAKSHI RASTOGI 02/03/2020 13:03:18
63 Views

Lucknow. हमारे भारतीय ज्योतिष शास्त्र में हर कार्यों के लिए समय निर्धारित किया गया है। जैसे नामकरण से लेकर विवाह तक और ग्रह प्रवेश से लेकर गोदभराई तक सभी कार्यों के लिए उपयुक्त समय निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार होलाष्टक को भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, अशुभ माना गया है, जिसके चलते सोलह संस्कार सहित सभी मांगलिक कार्य जैसे ग्रह प्रवेश, नामकरण, ग्रह शांति, विवाह आदि शुभ कामों पर विराम लग जाता है। ऐसे में होलाष्‍टक के दौरान कोई काम शुरू किया जाता है तो उसका दुष्प्रभाव आप पर पड़ सकता है।

यह भी पढे:उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा के परिणाम आज होंगे जारी, 49,568 पदों पर होनी हैं भर्तियां

02-03-2020131045WhyisHolasht4

सोमवार दोपहर 12:52 बजे से होलाष्टक की शुरुआत हो रही है, जिसके चलते सभी मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाएगी। यदि आप कोई शुभ काम करने का विचार कर रहे हैं तो थम जाएं, क्याेंकि अब होली के बाद ही शहनाइयों की गूंज सुनाई देगी। भारतीय मुहूर्त के अनुसार, होली से पहले के यह आठ दिन अशुभ माने गए हैं। 

02-03-2020130759WhyisHolasht1

ज्योतिषाचार्य लवकुश शास्त्री बताते हैं कि होलाष्टक मृत्यु का सूचक है। हिन्दू पौराणिक कथा के अनुसार, हिरण्यकश्यप जो राक्षस कुल के राजा थे, वे भगवान को नहीं मानते थे लेकिन उनका बेटा प्रहलाद भगवान विष्णु का बहुत बड़ा भक्त था। उन्होंने प्रहलाद को कई बार समझाया कि वह विष्णु की पूजा करना छोड़ दे, लेकिन प्रहलाद नहीं माने।

इन सारी कोशिशों के बाद हिरण्यकश्यप ने एक आखिरी पैंतरा अपनाया। इसके लिए उन्होंने अपनी बहन होलिका की मदद ली। बहन होलिका, प्रहलाद को अपनी गोद पर लेकर अग्नि में बैठ गयी। होलिका को भगवान शिव के वरदान स्वरूप एक चादर मिली थी, जिसे वह ओढ़ ले तो उसे अग्नि से कोई क्षति नहीं पहुंचेगी, लेकिन वह चादर प्रहलाद पर आ गिरी, जिससे होलिका जल गयी। बाद में ये परंपरा बन गयी और अब हर साल होली से पहले होलिका दहन किया जाता है।

यह भी पढे: होली से पहले नौकरीपेशा लोगों को मिलेगी बड़ी सौगात, 5 मार्च को सरकार लेगी ये अहम फैसला

Web Title: Why is Holashtak inauspicious Know when the inauspicious days before Holi are starting ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया