उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान की शुरुआत की।
सीएम योगी ने संचारी रोग नियंत्रण ​अभियान शुरू किया, कहा- बीमारी का डटकर करेंगे मुकाबला

Lucknow. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Cm Yogi Adityanath) ने बुधवार यानि 01 जुलाई, 2020 को संचारी रोग नियंत्रण अभियान (Communicable Disease Control Campaign) की शुरुआत की। सीएम (CM) ने ​कहा कि कोरोना (Covid-19) की ही तरह संचारी रोगों से भी मुकाबला करना होगा। उन्होंने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि कोरोना (Coronavirus) को हल्के में न लें, निर्देशों को सही से अनुपालन करें। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) को भी सही से नहीं फॉलो किया और अब अनलॉक (Unlock 2.0) को हल्के में ले रहे हैं, लापरवाही बरत रहे हैं। जिसके चलते कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। 

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की तारीफ करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य की इतनी जनसंख्या  होते हुए भी कोरोना के आंकड़े ज्यादा भयावह नहीं हैं। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए अभी से ही कमर कस ली है। उन्होंने कहा कि राज्य के अस्पतालों में करीब डेढ़ लाख बेड हैं और जांच किटों की संख्या बढ़ाकर 30 हजार कर दी गई है।

सीएम (Cm Yogi) ने कहा कि विशेष सफाई दल को भी गांव और मोहल्ले में जाकर सफाई और सैनिटाइजेशन का काम करने की परमीशन दे दी है। यह अभियान 31 जुलाई तक चलेगा। इस अभियान के तहत लोगों को उल्टी, दस्त जैसी कई बीमारियों के प्रति जागरूक किया जाएगा।

साफ सपाई पर भी विशेष ध्यान

अभियान की शुरुआत करने के दौरान योगी ने कहा कि बारिश के मौसम में व्यक्ति को अपना विशेष ध्यान रखने की जरुरत होती है। संचारी रोग लोगों की लापरवाही के चलते होते हैं। हर साल  इन रोगों के कारण कई लोगों की मौत भी हो जाती है।

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि प्रदेश के अंदर इंसेफेलाइटिस को रोकने का बड़े स्तर पर काम किया गया। अब मलेरिया, डेंगू व संचारी रोगों को रोकने के लिए फिर अभियान चलाया जा रहा है। विभागों के समन्वय के साथ अभियान को आगे बढ़ाया जा रहा है।

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना काल में बड़े स्तर पर काम किया है। उन्होंने कहा कि हर प्रकार के संचारी रोग को हम हर हाल में रोकेंगे। कोरोना के लिए भी साफ सफाई की आवश्यकता है। हमें कोरोना के खिलाफ जंग जीतनी है। प्रदेश के प्रत्येक जन को हमें सुरक्षित रखना है। सीएम ने कहा कि पहले कोरोना की जांच की संख्या कम थी, इसलिए केस भी कम सामने आ रहे थे। हालांकि आज कोरोना के लिए प्रतिदिन 25,000 टेस्ट हो रहे हैं। 

पूरी स्टोरी पढ़िए