कृषि बिल का पंजाब में जोरदार विरोध शुरू हो गया है, यहां पर बिल के विरोध में किसानों ने आंदोलन तेज कर दिया है।
कृषि बिल के खिलाफ पंजाब में विरोध शुरू, किसानों ने रोकी ट्रेनें

Chandigarh. संसद के मानसून सत्र में पास हुए तीन अहम कृषि बिल का पंजाब में जोरदार विरोध शुरू हो गया है, यहां पर बिल के विरोध में किसानों ने आंदोलन तेज कर दिया है। जिसके तहत किसानों ने गुरुवार को प्रदेश में तीन दिनों का रेल रोको आंदोलन शुरू किया है। कई जिलों मे किसान रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठ गए हैं और  दिल्ली की ओर ट्रेनों की आवाजाही बाधित हो गयी है। 

दरअसल, संसद में बिल भले ही पारित हो गए हों, लेकिन किसानों को ये स्वीकार नहीं हैं। पंजाब में किसानों ने 25 सितंबर यानी शुक्रवार को प्रदेशव्यापी बंद का एलान किया है। माना जाना रहा है कि किसानों को मंडी के बाहर से खरीद शुरू से उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) प्रणाली से हाथ धोने की चिंता सता रही है। वहीं, किसानों के आंदोलन को देखते हुए फिरोजपुर रेल मंडल ने 14 ट्रेनें रद्द कर दी हैं। इसके बाद एक अक्टूबर से अनिश्चितकाल के लिए किसानों ने बंद का आह्वान किया है। 

किसानों का कहना है कि सरकार हम किसानों से बात नहीं करना चाहती है। अगर हम इन कानूनों को स्वीकार नहीं करते हैं तो उन्हें जमीन पर लागू नहीं किया जा सकता है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने अप्रत्याशित हंगामे के बीच ध्वनिमत से पारित कराए गए इन बिलों को वापस नहीं लिया तो उनका आंदोलन और तेज होगा। 

पूरी स्टोरी पढ़िए