भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप ने शिक्षा क्षेत्र (Education sector) को प्रमुख रूप से प्रभावित किया है, केंद्रीय मानव संसाधन और विकास मंत्री रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal) और उनकी टीम ने छात्रों के लिए सुधार और शिक्षा योजना (Education Policy) जारी की है।
जानिए क्यों महत्वपूर्ण है राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

New Delhi. नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New National Education Policy) 2020 को आखिरकार कैबिनेट (Cabinet) ने मंजूरी दे दी है। इस घोषणा के साथ, मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Ministry of human resource development) को शिक्षा मंत्रालय (Education Ministry) के रूप में संदर्भित किया जाएगा। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप ने शिक्षा क्षेत्र (Education sector) को प्रमुख रूप से प्रभावित किया है, केंद्रीय मानव संसाधन और विकास मंत्री रमेश पोखरियाल (Ramesh Pokhriyal) और उनकी टीम ने छात्रों के लिए सुधार और शिक्षा योजना (Education Policy) जारी की है। 

बता दें कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप के कारण कई छात्रों को ऑनलाइन (online) सीखने के लिए स्थानांतरण में समस्याओं का सामना करना पड़ा है, मंत्रालय ने ऐसी योजनाएं शुरू की हैं जो शिक्षा में समानता लाएंगी। छात्रों को अपने स्नातक कार्यक्रम के दौरान एक विराम लेने की स्वतंत्रता (independence) भी होगी और वे जहां से भी निकले हैं, उसे जारी रखेंगे। मूल रूप से, मंत्रालय ने संयुक्त राज्य अमेरिका की एकाधिक प्रविष्टियों और निकास प्रणाली की तरह एक क्रेडिट प्रणाली शुरू की है। इससे पहले 1986 में राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) तैयार की गई थी और 1992 में इसे संशोधित किया गया था। सूचित करने के लिए, पिछली नीति लागू होने में तीन दशक से अधिक समय बीत चुके हैं। वहीं,  2035 तक 50 प्रतिशत सकल नामांकन (Gross enrolment) दर तक पहुँचने के लिए, नई शिक्षा नीति में कई बड़े बदलाव किए गए हैं। 

गौरतलब है कि नई शिक्षा नीति (NEP) का ड्राफ्ट (Draft) 2019 में प्रस्तुत किया गया था जहां इसे जल्दी से सराहना मिली और साथ ही साथ कड़ी आलोचना भी हुई। एमएचआरडी (MHRD) को लाखों सुझाव मिले थे और एनईपी के मसौदे को संशोधित किया गया था। मानव संसाधन विकास मंत्री (Human Resource Development Minister) रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal Nishank) ने कहा कि यह नई शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy) नए भारत के निर्माण का सोत्र साबित होगी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (National Education Policy) शिक्षा क्षेत्र को बढ़ाने और भारत के लोगों के बीच शिक्षा (Education) को बढ़ावा देने के लिए तैयार की गई नीति है। नई शिक्षा नीति मैं स्कूली शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा में कई बड़े बदलाव किए गए हैं। अब देखना ये होगा कि ये बदलाव कितने महत्वपूर्ण साबित होते हैं। नई शिक्षा नीति को मंजूरी प्रधानमंत्री के संरक्षण में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में दी गयी है।