राजस्थान कांग्रेस में बीते करीब एक माह से तनातनी का माहौल चल रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच चल रहा आपसी विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है
डिप्टी सीएम सचिन पायलट की टीम में जो 'रायचंद' थे वो अब 'जयचंद' बन गए!

Jaipur. राजस्थान कांग्रेस (Rajsthan Congress) में बीते करीब एक माह से तनातनी का माहौल चल रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच चल रहा आपसी विवाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) तक पहुंच गया है, लेकिन इस बीच कांग्रेस (Congress) के एक विधायक ने सचिन पायलट (Sachin Pilot) को राय देने वालों को ‘गलत’ लोग करार दिया है। उन्होंने कहा कि सचिन ने जिन विधायकों पर भरोसा किया वे सबसे पहले धक्का देने वालों लोगों में से हैं।

कांग्रेस विधायक प्रशांत बैरवा (Prashant Bairwa MLA) ने कहा कि सचिन पायलट (Sachin Pilot) अगर हम लोगों से थोड़ी भी राय ले लेते तो उनके साथ आज 19 नहीं 40 लोग हो सकते थे, लेकिन उन्होंने राय नहीं ली। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट (Sachin Pilot) का खेल कोई पलट रहा है। उन्होंने कहा कि पायलट की टीम काफी बड़ी थी, उन्हें अंदाजा नहीं था। उन्होंने कहा कि सचिन (Sachin) ने जिन लोगों पर भरोसा किया वही धक्का देने वाले लोग निकले। 

यह भी पढ़ें... जम्मू कश्मीर: अनुच्छेद 370 हटाए जाने का एक साल पूरा, जानें क्या कुछ बदला?

उन्होंने कहा कि ​सचिन (Sachin) के शुभचिंतक यहां भी हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि हम कांग्रेस (Congress) को वोट नहीं करेंगे हम सौ प्रतिशत कांग्रेस (Congrss) को वोट करेंगे, लेकिन धक्का देने वालों में से नहीं हैं। उन्होंने कहा कि सचिन (Sachin) की टीम में जो 'रायचंद' थे वो अब 'जयचंद' हो गए हैं। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि इस प्रकरण के पीछे बीजेपी (BJP) का हाथ है। उन्होंने कहा कि बागी विधायक उनके पास वापस आना चाहते हैं, लेकिन उन्हें रोका जा रहा है।

यह भी पढ़ें...  राज्यसभा चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी को लगा तगड़ा झटका, दो विधायकों ने पार्टी से दिया इस्तीफा

बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) से सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे के कुल 19 विधायक नाराज हैं। कांग्रेस (Congress) व अन्य समर्थक विधायक जैसलमेर के एक होटल में रुके हैं, जिनमें बैरवा भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ें... बड़ी खबर: सोनिया गांधी के सुझाव के बाद अब इस पार्टी का कांग्रेस में होगा विलय

पूरी स्टोरी पढ़िए