सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को अदालत की अवमानना का दोषी ठहराया, सजा पर फैसला 20 अगस्त को
सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को अदालत की अवमानना का दोषी ठहराया, सजा पर फैसला 20 अगस्त को

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) को सुप्रीम कोर्ट ने अवमानना (Contempt) केस में दोषी करार दिया है। जाने माने वकील प्रशांत भूषण को कोर्ट ने उनके दो ट्वीट के आधार पर दोषी ठहराया है। जस्टिस बीआर गवई, जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस कृष्ण मुरारी की बेंच ने प्रशांत भूषण को दोषी करार देते हुए सजा पर फैसला 20 अगस्त तक सुरक्षित रख लिया है। 

बता दें कि इससे पहले 5 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने अपने फैसले को सुरक्षित रख लिया था, जिस पर शुक्रवार को यानी 14 अगस्त को सुनवाई हुई। 

बता दें कि हाल ही में कोर्ट ने प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) के दो ट्वीट के आधार पर स्वत: संज्ञान लेते हुए प्रशांत भूषण को अवमानना के तहत नोटिस भेजा था।

दरअसल, वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने दो अलग-अलग ट्वीट के माध्यम से मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस.ए. बोबडे (CJI) और चार पूर्व न्यायाधीश को लेकर ट्वीट किया था, जिस पर कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए वकील प्रशांत भूषण को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने को कहा था। 

नोटिस के जवाब में उन्होंने 140 पेज का जवाब दाखिल कर कहा कि सीजेआई (Chief Justice of India) की स्वस्थ आलोचना कोर्ट का अपमान नहीं है और न ही इससे अदालत की गरिमा कम होती है। लेकिन कोर्ट ने उन्हें दोषी करार दिया है, जिस पर 20 अगस्त को सुनवाई होगी। 

पूरी स्टोरी पढ़िए