उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर देहात (Kanpur Dehat) की पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने चीन विवाद पर कांग्रेस (Congress) के राष्ट्रीय अध्यक्ष को आड़े हाथ लिया है।
राहुल गांधी के बयान पर भड़कीं उमा भारती, कही ये बड़ी बात

Kanpur. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर देहात (Kanpur Dehat) की पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने चीन विवाद पर कांग्रेस (Congress) के राष्ट्रीय अध्यक्ष को आड़े हाथ लिया है। उमा भारती (Uma Bharti) के कहा कि  राहुल गांधी (Rahul Gandhi)  को पहले चीन विवाद (China dispute) पूरा समझने की जरुरत है। बिना समझे किसी भी विवाद पर कुछ कहना ठीक नहीं ।

दरअसल, उमा भारती किसी मुद्दे पर कोर्ट में सुनवाई के लिए जा रहीं थीं। वह सोमवार को सुनवाई के लिए भोपाल से लखनऊ आने वाली थीं, लेकिन अचानक लखनऊ कोर्ट (Lucknow Court) में कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) मिलने पर सुनवाई स्थगित हो गई, जिस वजह से उमा भारती को माती सर्किट हाउस में ही आराम करना पड़ा। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से बात की। 

हाल ही में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने चीन विवाद पर एक बायन दिया था। उस बयान पर ही उमा भारती का गुस्सा फूटा। असल में राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि भारत कोरोना से निपटने में लगा है, उधर चीन ने भारत की धरती पर कब्जा कर लिया। इस बयान पर उमा भारती ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को अभी समझने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि जब बांग्लादेश का मुद्दा हुआ था, तब इंदिरा गांधी सरकार के समय पाकिस्तान से युद्ध हुआ था। इस स्थिति से राहुल गांधी को कुछ सीखने की जरुरत है।

तब अटल बिहारी बाजपेई पूरी तरह से सरकार के साथ थे। इससे सीख लेकर राहुल को बयान देना चाहिए। राहुल (Rahul) को जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) के समय का इतिहास भी देखना चाहिए। तब हिंदी, चीनी भाई भाई के नारे लगे थे। यह नारे चीन ने ही लगवाए थे। इसके बावजूद गद्दारी की थी। 

पूरी स्टोरी पढ़िए