सावन का महीना हमेशा से ही भक्तों के बीच काफी उत्साह और उमंग का रहा है। इस महीने में भक्तों के ऊपर भगवान शिव की विशेष कृपा रहती है।
तीन साल बाद फिर बना ऐसा शुभ संयोग, भोले बाबा की मिलेगी विशेष कृपा

Lucknow. सावन का महीना हमेशा से ही भक्तों के बीच काफी उत्साह और उमंग का रहा है। इस महीने में भक्तों के ऊपर भगवान शिव की विशेष कृपा रहती है। इस साल सावन महीने की शुरुआत छह जुलाई से होगी। इस बार सावन के महीने में पांच सोमवार पड़ेंगे।

हिंदी रीति रिवाजों के मुताबिक, श्रावण महीने का विशेष महत्व है। इस साल सावन का महीना 29 दिनों का होगा। कई ज्योतिषी का कहना है कि इस साल सावन महीने में शुभ संयोग बन रहे हैं। इस महीने में गुरु अपनी ही राशि धनु में होगा जो काफी शुभ संकेत माना जा रहा है। इसके अलावा चंद्रमा भी अपनी ही राशि मकर में प्रवेश करेगा। 

शुभ संकेत

इस बार सावन के महीने (Month of spring) में पांच सोमवार पड़ रहे हैं। ऐसा शुभ संयोग आज से 3 साल पहले साल 2017 में बना था। 2017 के सावन में भी पांच सोमवार पड़े थे। साथ ही इस महीने ऐसे 25 दिन पड़ रहे हैं जिन दिनों आप कोई भी शुभ काम कर सकते हैं। 

सोमवार से शुरू होगा सावन का महीना

सावन महीने के कृष्ण पक्ष प्रतिपदा की तिथि 5 जुलाई से शुरू होकर सोमवार की सुबह करीब 9 बजे तक रहेगी। सोमवार के दिन भी हिंदी के हिसाब से प्रतिपदा तिथि की वजह से सोमवार के दिन से ही सावन महीने की शुरूआत होगी। इस बार सावन के महीने में पांच सोमवार पड़ेंगे। तीन सोमवार महीने के कृष्म पक्ष (Krishna Paksha) में तो दो सोमवार महीने के शुक्ल पक्ष (Darker fortnight) में होंगे। 

व्रत रखने की विधि

सावन के सोमवार (Monsoon monsoon) के दिन व्रत रखने की अलग ही मान्यता है। सोमवार के दिन व्रत रखने से भगवान शिव की विशेष कृपा मिलती है। सभी परेशानियों के खत्म होने के साथ बीमारियों से भी निजात मिलती है। माना जाता है कि सावन के सोमवार से ही सोलह सोमवार व्रत प्रथा (Sixteen monday fast) की शुरुआत हुई। जुलाई के महीने में ही हरियाली तीज (Green teej) और नागपंचमी (Nagpanchami) जैसे पावन त्योहार मनाए जाएंगे। 

पूरी स्टोरी पढ़िए