भाजपा मुख्यालय (BJP headquarter) में आयोजित एक कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता और संगठन के पदाधिकारियों भाजपा का दामन थाम लिया है।
सिंधिया ने कांग्रेस को दिया एक और बड़ा झटका, 55 वरिष्ठ नेताओं ने छोड़ी पार्टी

Bhopal. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में शिवराज सरकार (Shivraj government) के मंत्रिमंडल (Cabinet) का गुरुवार को विस्तार हुआ। इसके बाद कांग्रेस (Congress) को एक बहुत बड़ा झटका लगा है। भाजपा मुख्यालय (BJP headquarter) में आयोजित एक कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता, नेता और संगठन के पदाधिकारियों भाजपा का दामन थाम लिया है। इन नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan), ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष (BJP state president) वीडी शर्मा (VD Sharma) की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस (Congress) का दामन छोड़कर भाजपा (BJP) में शामिल होने वाले नेताओं में 30 से ज्यादा जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी, 2 पूर्व मंत्री, 8 पूर्व विधायकों हैं। इसके अलावा कांग्रेस (Congress) के 5 जिलाध्यक्ष, 9 कार्यकारी जिलाध्यक्ष, 13 प्रदेश सचिव और 15 महामंत्री भी भाजपा में शामिल हो गए। वहीं, टिकट न मिलने से नाराज़ होकर कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया (Former Minister Ramakrishna Kusmaria) फिर की भाजपा (BJP) में फिर से वापसी हुई है। पूर्व मंत्रीरघुवीर सिंह सूर्यवंशी भी भाजपा में शामिल हो गए।

इन पदाधिकारों नेछोड़ा कांग्रेस का दामन

विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी रहे शशि केथोरिया, केके सिंह कालूहेडा,  समंदर पटेल, गिरीश पटेल, ज्ञानवती,  हरिशंकर चौधरी, अनुराग वर्धन हजारी, मोहन सेंगर, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह गौतम, प्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पवन जायसवाल समेत कई नेताओं ने कांग्रेस को छोड़ा है।

इसके अलावा प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी, शाहवर आलम, मिनेंद्र डागा, राजेन्द्र ठाकुर, चंदेरी नगर पालिका अध्यक्ष उषा साद, शाजापुर नगर पालिका अध्यक्ष शीतल क्षितिज भट्ट सहित जनपदपंचायत अध्यक्ष सहित 30 से अधिक जिलों के कांग्रेस पदाधिकारी अब भाजपा में शामिलहो गए हैं। इन सभी नेताओं को भाजपा (BJP) में शामिल कराने के पीछे सिंधिया का बड़ा हाथ माना जा रहा है।