देश में कोरोना संकट (Corona Crisis) की वजह से लागू लॉकडाउन (Lockdown) में विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार (Central Government) के खिलाफ सोशल मीडिया (Social Media) को बड़ा हथियार बनाया है।
Speak Up India साबित हुआ देश का सबसे बड़ा डिजिटल कैंपेन : कांग्रेस

New Delhi. देश में कोरोना संकट (Corona Crisis) की वजह से लागू लॉकडाउन (Lockdown) में विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार (Central Government) के खिलाफ सोशल मीडिया (Social Media) को बड़ा हथियार बनाया है। इस प्लेटफॉर्म की मदद से विपक्षी सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए अपनी मांगों को रख रहे हैं। इसी कड़ी में 28 मई को शुरू किए गए #SpeakUpIndia कैंपेन को कांग्रेस (Congress) ने सबसे बड़ी कामयाबी बताया है।

कांग्रेस के मुताबिक, डिजिटल अभियान #SpeakUpIndia कैंपेन को केवल पार्टी नेताओं से ही नहीं बल्कि आम लोगों से भी इतना समर्थन मिला कि सिर्फ 3 घंटों का निर्धारित कैंपेन शनिवार को भी चल रहा है। ये पूरा डिजिटल कैंपेन (Digital Campaign) कांग्रेस पार्टी (Congress Party) के सोशल मीडिया प्रमुख (Social Media Chief) रोहन गुप्ता (Rohan Gupta) के नेतृत्व में हुआ। रोहन गुप्ता का दावा है कि आज तक देश में ऐसा कैंपेन नहीं हुआ।

एक मीडिया चैनल से बातचीत में रोहन गुप्ता ने कहा कि #SpeakUpIndia कैंपेन आज तक का सबसे बड़ा डिजिटल कैंपेन (Digital Campaign) था जिसके तहत कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व समेत सभी कार्यकर्ताओं ने मोदी सरकार से गरीब, मजदूरों और किसानों के हक में मांगे रखी।

कांग्रेस पार्टी का दावा है कि 28 मई को #SpeakUpIndia कैंपेन सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दिन भर ट्रेंड करता रहा। वहीं, ट्विटर पर करीब 8 घंटे तक कांग्रेस का ये कैंपेन नंबर एक पर ट्रेंड करता रहा। यह एक डिजिटल रैली की तरह था। 

बता दें कि #SpeakUpIndia कैंपेन में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के तमाम नेता शामिल हुए थे और अपने अपने वीडियो संदेश सोशल मीडिया पर डाले थे। इसके जरिए मोदी सरकार के सामने गरीब मजदूरों को अगले 6 महीने तक 7500 रुपये देने और मनरेगा के तहत रोजगार के दिनों को 200 दिन तक बढ़ाने की मांग की थी। सरकार से ये मांग भी की गई कि गरीब मजदूरों को उनके राज्यों तक पहुंचाने के एवज़ में उनसे किराया ना वसूला जाए।

पूरी स्टोरी पढ़िए