नहीं मिला IPL में खेलने का मौका, फिर क्रिकेटर ने उठाया खौफनाक कदम
नहीं मिला IPL में खेलने का मौका, फिर क्रिकेटर ने उठाया खौफनाक कदम

Mumbai.  इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल (IPL) ने भारत (India) ही नहीं पूरी दुनिया में अपना जलवा बिखेरा है। इस लीग ने न सिर्फ क्रिकेट फैन्स का मनोरंजन किया बल्किं इस लीग में बेहतर प्रदर्शन के बदौलत कई खिलाड़ियों को अपने देश के लिए खेलने का मौका भी मिला। ऐसे में हर क्रिकेटर के लिए आईपीएल में खेलना एक सपना बन चुका है। वहीं, आईपीएल की किसी टीम में शामिल न किये जाने से हताश मुंबई के खिलाड़ी ने मौत को गले लगा लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुंबई के एक क्लब क्रिकेटर करन तिवारी (Karan Tiwari) का शव सोमवार को उनके घर में मिला। करन के एक दोस्त का कहना है कि करन ने खुदखुशी कर ली क्योंकि वह आईपीएल की आठ टीमों में से किसी भी टीम में शामिल नहीं हो पाया। सूत्रों की माने तो मरने से पहले करन ने उदयपुर में रहने वाले एक दोस्त को फोन किया और कहा कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। इसके बाद उसने करन की बहन को फोन किया जो इसी शहर में रहती है। उसके बाद बहन ने मां को बताया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। परिजनों ने जब करन से उसके बेडरूम का दरवाजा खोलने को कहा, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। उसने सिलिंग फैन में फन्दा लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

पुलिस (Police) के मुताबिक, रात को साढ़े दस बजे गोकुलधाम कोनु कंपाउंड में करन तिवारी (Karan Tiwari) ने आत्महत्या की है। पुलिस ने ADR (Accidental Death Report) दर्ज कर ली है।

करन अक्सर आईपीएल की टीमों के लिए वानखेड़े में पिछले सीजन में गेंदबाजी किया करते थे। करन को लोकल क्रिकेट में जूनियर डेल स्टेन का नाम दिया गया था। करन का एक्शन और कद काठी साउथ अफ्रीकाई दिग्गज गेंदबाज डेल स्टेन से मिलती थी। लेकिन उनको आईपीएल में खेलने का मौका इसलिए नहीं मिला, क्योंकि बीसीसीआई (BCCI) के नियमों पर वे खरे नहीं उतरते थे।

बीसीसीआई BCCI के नियमों के मुताबिक केवल वे खिलाड़ी जिन्होंने किसी भी आयु वर्ग में राज्य की टीम का प्रतिनिधित्व किया है, वे आईपीएल नीलामी में प्रवेश करने के लिए पात्र हैं, लेकिन करन ने कभी राज्य के लिए प्रथम श्रेणी, लिस्ट या टी20 मैच नहीं खेला था।

पूरी स्टोरी पढ़िए