आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 (ICC World cup 2011 final) के फाइनल मैच के फिक्सिंग (Fixing) मामले में पुलिस ने श्रीलंकाई टीम (Sri Lankan Team) की कप्तानी करने वाले पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा (Former cricketer Kumar Sangakkara) से पूछताछ की है। करीब 10 घंटे चली इस पूछताछ के दौरान संगकारा का बयान भी दर्ज किया गया।
WC 2011 Fixing : संगकारा से 10 घंटे चली पूछताछ, विरोध में सड़कों पर उतरे फैंस

New Delhi. आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 (ICC World cup 2011 final) के फाइनल मैच के फिक्सिंग (Fixing) के आरोपों की श्रीलंका पुलिस (Sri Lankan Police) जांच कर रही है। इस मामले में पुलिस ने वर्ल्ड कप में श्रीलंकाई टीम (Sri Lankan Team) की कप्तानी करने वाले पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा (Former cricketer Kumar Sangakkara) से पूछताछ की है। करीब 10 घंटे चली इस पूछताछ के दौरान संगकारा का बयान भी दर्ज किया गया। हालांकि संगकारा से पुलिस ने कौन-से सवाल पूछे हैं इसके बार में जानकारी ने नहीं मिल पायी है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विश्व कप 2011 फाइनल (World cup 2011 final) में श्रीलंका की कप्तानी करने वाले संगकारा ने 10 घंटे से अधिक समय तक चली पुलिस की पूछताछ में अपना बयान दर्ज कराया। इस दौरान युवाओं की पार्टी समागी थारुना बालावेगाया के सदस्य श्रीलंका क्रिकेट के कार्यालय के बाहर पोस्टर लेकर एकत्रित हुए और आरोप लगाने लगे कि इस दिग्गज क्रिकेटर को अधिकारी प्रताड़ित कर रहे हैं। 

पूर्व खेल मंत्री ने की थी जांच की मांग

बता दें कि श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री (Former Sri Lankan Sports Minister) महिंदानंदा अल्थगामागे (Mahindananda Althagamage) ने वर्ल्ड कप 2011 (World Cup 2011) के फ़ाइनल मैच को फिक्स बताते हुए जांच की मांग की थी। साथ ही उन्होंने श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड (Sri Lankan Cricket Board) को एक लिस्ट सौंपी थी। 9 पन्नों की इस लिस्ट में बताया गया कि किन वजहों से उन्हें ये शक है कि फाइनल फिक्स था। उन्होंने कहा कि मैंने 24 कारण बताए हैं। जिसकी वजह से हमें फाइनल में हार मिली। वर्ल्ड कप 2011 के समय महिंदानंदा अल्थगामागे ही श्रीलंका खेलमंत्री थे। 

संगाकारा-जयवर्धने ने आरोपों को किया खारिज

हालांकि श्रीलंकाई टीम के पूर्व कप्तान (Former Sri Lankan Team Captain) कुमार संगाकारा (Kumar Sangakkara) और महेला जयवर्धने ( Mahela Jayawardene) ने फिक्सिंग (Fixing) के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था। संगाकारा उस वक्त श्रीलंकाई टीम के कप्तान थे और जयवर्धने भी उस टीम का हिस्सा थे। जयवर्धने ने इस मैच में शतकीय पारी खेली थी। लेकिन उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा था। 

अब तक इन लोगों से हो चुकी पूछताछ

श्रीलंका सरकार ( Sri Lankan Government) वर्ल्ड कप 2011 (World Cup 2011) के फ़ाइनल मैच के  फिक्सिंग (Fixing) के आरोपों की जांच करा रही है। संगकारा से पहले फिक्सिंग के आरोपों को लेकर श्रीलंका पुलिस ने 2011 में श्रीलंकाई टीम के चीफ सिलेक्टर रहे अरविंद डी सिल्वा (Arvind de Silva) और फाइनल के ओपनर उपुल थरंगा (Upul Tharanga) से पूछताछ की थी।